कांग्रेस घोषणा पत्र जारी होते ही भाजपा ने अपनी हार स्वीकार कर ली : कांग्रेस

०० बौखलाहट में भाजपा ने घोषणा पत्र जलाया 

रायपुर। भाजपा के द्वारा घोषणा पत्र जलाने की कांग्रेस ने कड़ी निंदा की और भाजपा की इस हरकत को  राजनीतिक इतिहास की सबसे निम्नस्तर की घटना करार दिया प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि 60 महीने की मोदी सरकार की विफलताओं, जुमलेबाजी,वफाखिलाफी से भाजपा दिशाहीन मुद्दाविहीन हो चुकी है। पिछले 23 साल से भाजपा के घोषणापत्र में मुद्दे वही है सिर्फ चुनावी वर्ष बदलेते रहे है ऐसे में जनता का विश्वास खो चुकी भाजपा को अब घोषणापत्र बनाने मुद्दा मिल नही रहा है।कांग्रेस घोषणा पत्र में गरीब मजदूर किसान माहिला की आवाज को योजना को बनाकर प्रस्तुत किया गया। कांग्रेस घोषणापत्र जारी होने के बाद भाजपा की हार सुनिश्चित हो गई है। हार की बौखलाहट में भाजपा कांग्रेस के घोषणा पत्र को जलाकर उद्योगपतियों के हितसाधक की कर्तव्य को पूरा कर रही है। 2014 लोकसभा चुनाव में किये वादा को 60 महीने में मोदी सरकार  पूरा करने में अक्षम सिद्ध हो चुका है। ऐसे में भाजपा जनता के बीच जाने में कतराता रही है और भाजपा कांग्रेस पर बेबुनियाद, निराधार, तथ्यहीन, आरोप लगाकर मीडिया में बने रहने के लिये इस प्रकार की निम्न हरकत कर रही है। भाजपा एक बार फिर घोषणापत्र के जरिये जनता के बीच झूठ का फालूदा परोसने की तैयारी कर रही थी उसमे कांग्रेस के घोषणा पत्र आने से पानी फिर गया।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि आजादी की लड़ाई के दौरान आरएसएस काम अंग्रेजो का एजेंटगिरी करना था उसी काम को भाजपा आज भी जारी रखी है अंतर बस इतना है आरएसएस अंग्रेजो के एजेंट थे भाजपा अडानी अम्बानी के एजेंट है।काँग्रेस जनघोषण पत्र में शिक्षा ,स्वास्थ,रोजगार और किसान जवान पर फोकस किया गया है। मोदी सरकार स्वास्थ को बीमा कम्पनियो के हवाले कर हजारो करोड़ रुपया का लाभ रिलायंस सहित अन्य बीमा कम्पनियो को पहुचाते रही है जो कांग्रेस सरकार बनने पर बन्द हो जाएगी।

 

error: Content is protected !!