कांग्रेस सरकार नहीं चाहती राज्य के गरीबों का भला, राजनीतिक मंशा से केंद्र पर मढ़ रही दोष : कौशिक

०० कांग्रेस का आरोप केंद्र सरकार से चावल नही मिल रहा लेकिन इस मामले में सरकार सही तरीके से नही रख पाई अपना पक्ष

०० भूपेश सरकार पूर्ण शराब बंदी का वादा कर सिर्फ कमेटी बना कर कर दिया शराबबंदी को किया दरकिनार

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने राज्य की काग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यह सरकार राज्य के गरीबों का भला नहीं चाहती। अपनी राजनीतिक मंशा की खातिर व्यर्थ ही केंद्र सरकार पर दोष मढ़ा जा रहा है कि उसने गरीबों के लिए चावल देने से इंकार कर दिया जबकि हकीकत यह है की छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने इस मामले में अपना पक्ष जानबूझकर बेहतर तरीके से नहीं रखा ताकि गरीबों के नाम पर राजनीति की जा सके।

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि भाजपा शासनकाल में गरीबों के कल्याण के लिए जितनी भी योजनाएं शुरू की गई, भूपेश सरकार उनकी समीक्षा करना चाहती है। ऐसा लगता है कि भाजपा शासनकाल में गरीबों को मिलने वाले नमक और चने की योजना को भी यह सरकार बंद कर देगी। कौशिक ने कहा कि  प्रदेश में कांग्रेस की सरकार कहती कुछ है करती कुछ है। लोकसभा चुनाव का माहौल है और कांग्रेस की सरकार लोकलुभावन वादे कर रही है। अभी वर्तमान में दाल भात केंद्र को बंद करने का निर्णय लिया है, जिस दाल भात केंद्र से कई गरीबों का पेट न्यूनतम दर में भरता था आज प्रदेश सरकार केंद्र सरकार पर आरोप लगा रही है कि केंद्र सरकार से चावल नही मिल रहा है लेकिन मैं कहना चाहूंगा कि छत्तीसगढ़ सरकार सही तरीके से अपना पक्ष नही रख पाई। यह बात केवल केंद्र सरकार पर थोपना सिर्फ अपनी जवाबदेही से बचना है। इस सरकार की नीयत से यही लग रहा है की आने वाले समय मे गरीबो को मिलने वाला नमक और चना भी बंद करने वाले हैं , इस सरकार की नीयत ठीक नही है । किसी भी सरकार के द्वारा गरीबों के लिए जो योजना बनाई जाती है उसे बढाना चाहिए न कि उस योजना को बंद किया जाना चाहिए। कौशिक ने शराब बंदी पर भी भूपेश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि चुनाव से पहले चुनावी वादे हुए थे कि छत्तीसगढ़ में पूर्ण शराब बंदी की जाएगी लेकिन सिर्फ कमेटी बना कर इसे भी दरकिनार कर दिया गया । इस लोकसभा चुनाव में एक बार फिर से एनडीए की सरकार आएगी और नरेंद्र मोदी ही प्रधानमंत्री बनेंगे।

error: Content is protected !!