बिलासपुर लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी के रूप में डॉ विनोद तिवारी का नाम तय, शाम तक हो सकती है घोषणा

०० बिलासपुर, राजनांदगांव व कोरबा से के किसी एक सीट से भाजपा उतार रही ब्राहमण प्रत्याशी

०० बिलासपुर सीट पर दिग्गज भाजपा नेताओ ने अपनी पसंद को लेकर कर रहे जोर आजमाइश

बिलासपुर| भारतीय जनता पार्टी प्रदेश में जातिगत समीकरण के पेंच में फसती नज़र आ रही है वही छत्तीसगढ़ के कई दिग्गज भाजपा नेता अपने पसंद के लोगो को टिकिट दिलाने जोर आजमाइश में जुटे हुए है जिसके चलते बिलासपुर लोकसभा के प्रत्याशी के नाम पर मुहर लग जाने के बाद भी प्रत्याशी की घोषणा नहीं की जा रही है वही इस सीट को लेकर पूर्व मंत्री व क्षेत्र के दिग्गज भाजपा नेता भी अपने चहेतों को टिकिट दिलाने भरपूर कोशिश कर रहे है|  

भाजपा प्रदेश के 11 लोकसभा सीट के किसी एक सीट पर ब्राह्मण प्रत्याशी को लड़ाना तय कर चुकी है, लेकिन पहले चरण के नामो की घोषणा होने के बाद अब केवल 6 सीटो पर भाजपा प्रत्याशियों की घोषणा करने वाली है जिसमे से बिलासपुर, राजनांदगाव व कोरबा में से किसी एक सीट पर ब्राह्मण प्रत्याशी को उतारने की तैयारी में है मगर राजनांदगाव से टिकिट से दावेदार भाजपा प्रदेश महामंत्री संतोष पाण्डेय पूर्व में चुनाव हार चुके है वही पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ सिंह की पसंद में शामिल नहीं है जिसके चलते उन्हें टिकिट नहीं मिलने की उम्मीद जताई जा रही है इसी तरह कोरबा लोकसभा सीट से दो दावेदारों के नाम सामने आये है जिसमे देवेन्द्र पाण्डेय व ज्योतिनंद दुबे जिनमे ज्योतिनंद दुबे भी अपना पिछला चुनाव हार गए है व देवेन्द्र पाण्डेय पर घोटाले किये जाने के आरोप है जिसके बाद इन दोनों को भी टिकिट के दावेदारी से बाहर बताया जा रहा है वही बिलासपुर लोकसभा के प्रबल दावेदार डॉ विनोद तिवारी स्वच्छ छबी होने के साथ ही पार्टी के बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के तीनो विधायको का भी समर्थन प्राप्त है वही भाजपा सांसद भी डॉ तिवारी के पक्ष में अपना समर्थन दे चुके है जिसके बाद पार्टी से डॉ तिवारी को टिकिट देना लगभग तय माना जा रहा है|

भाजपा के दिग्गज नेता चहेतों को टिकिट दिलाने में कर रहे जोर आजमाइश :- बिलासपुर लोकसभा सीट को लेकर जिले के दिग्गज भाजपा नेता पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल व धरमलाल कौशिक अपने अपने चहेतों व समर्थको को टिकिट दिलाने में जुटे हुए है| राजनितिक सूत्रों की माने तो पार्टी अध्यक्ष के समक्ष पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने अरुण साव के नाम को आगे बढाया तो धरमलाल कौशिक ने भूपेन्द्र सव्वनी का नाम आगे बढाया लेकिन इन दोनों दिग्गजों के जोर आजमाइश के बाद भी डॉ विनोद तिवारी को भाजपा नेताओ व कार्यकर्ताओ का समर्थन हासिल है जिसके बाद उनके नाम पर मुहर लगना तय है|

 

error: Content is protected !!