छत्‍तीसगढ़ के लिए भारतीय जनता पार्टी के पांच उम्‍मीदवार घोषित

०० जांजगीर से गुहाराम अजगलेबस्‍तर से बैदूराम कश्‍यपकांकेर से मोहन मंडावीसरगुजा से रेणुकासिंह और रायगढ़ से गोमती साय को मिला टिकट

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी केंद्रीय चुनाव समिति ने लोकसभा चुनाव के लिए छत्‍तीसगढ़ की पांच सीटों के लिए उम्‍मीदवारों के नाम घोषित कर दिए हैं। पार्टी ने जांजगीर से गुहाराम अजगले, बस्‍तर से बैदूराम कश्‍यप, कांकेर से मोहन मंडावी, सरगुजा से रेणुकासिंह और रायगढ़ से गोमती साय को टिकट दिया गया है। रेणुका रमन सरकार में मंत्री रही हैं। 2013 का चुनाव हार गई थीं। उन्‍हें 2018 में टिकट नहीं मिला था। बैदूराम एक बार विधायक रह चुके हैं। एक चुनाव हारे हैं। उन्‍हें 2018 टिकट नहीं मिला था। सारंगढ़ सीट से गुहाराम सांसद रह चुके हैं।परिसीमन के बाद अब सारंगढ़ सीट जांजगीर-चांपा सीट हो गई है मोहन मंडावी छत्तीसगढ़ शिक्षक संघ शाखा कांकेर के पूर्व उपाध्यक्ष व समाजसेवी होने के साथ ही लोक सेवा आयोग के सदस्य भी हैं। वर्तमान में तुलसी मानस प्रतिष्ठान के प्रांताध्यक्ष भी हैं।

कांग्रेस के प्रत्याशी दिनेश ठाकुर भानुप्रतापपुर के पूर्व जनपद अध्यक्ष रह चुके हैं। गोमती जशपुर जिला पंचायत अध्यक्ष हैं। रायगढ़ लोकसभा प्रत्याशी गोमती साय पूर्व में फरसाबहार मंडल अध्यक्ष, जनपद की सदस्य और जिला पंचायत अध्‍यक्ष हैं।लोकसभा चुनाव के लिहाज से गुहराम के अलावा सभी नए हैं। कांकेर लोकसभा से लोकसभा चुनाव हेतु प्रत्याशी घोषित होने के बाद उनके समर्थकों ने मोहन मंडावी के साथ भाजपा जिलाध्यक्ष हलधर साहू ने मिठाई खिलाई।गोमती और मोहन पहली बार चुनाव लड़ेंगे जबकि रेणुका और बैदूराम विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं। पार्टी ने पांचों सीटों पर नए चेहरों को मौका देकर अपने कहे अनुसार मौजूदा सांसदों को मौका नहीं दिया है। पार्टी ने इस बार रेणुका को मौका देकर लोकसभा सीट पर नया चेहरा उतारा है।सरगुजा से कमलभान सिंह, रायगढ़ से विष्णु देव साय, जांजगीर से कमला पाटले, बस्तर से दिनेश कश्यप और कांकेर से विक्रम उसेंडी को फ‍िर से टिकट नहीं मिला है। दिनेश कश्‍यप का दूसरी बार टिकट कटा है। वे 1990 में पहली बार जगदलपुर सीट से विधायक बने थे।1993 में उनका टिकट कटा। पूर्व सांसद बलिराम कश्‍यप के बेटे दिनेश अपने पिता के निधन के बाद 2011 में उपचुनाव लड़े और जीते। बैदूराम 2003 में केसलूर से पहली बार विधायक बने। वे 2008 में चित्रकूट से विधायक चुने गए। जांजगीर- चांपा लोकसभा से भारतीय जनता पार्टी ने अविभाजित सारंगढ़ लोकसभा सीट के सांसद गुहाराम अजगले को प्रत्याशी बनाया है।बैदूराम को टिकट मिलने की घोषणा होते ही जगदलपुर में भाजपा कार्यालय में उन्‍हें बधाई देने कार्यकर्ता पहुंचने लगे। मीडिया से बातचीत में बैदूराम ने कहा कि बस्‍तर सीट पर भाजपा ही जीतेगी। उन्‍होंने कहा कि पीएम मोदी का नाम और सरकार का काम चुनाव प्रचार में पार्टी का मुख्‍य बिंदू होगा।

बस्तर- इस सीट से भाजपा जिला अध्यक्ष बैदूराम कश्यप को उरम्मीदवार बनाया है। केशलूर विधान सभा से विधायक निर्वाचित हो कर व़े पहली बार विधायक बने। दूसरी बार चित्रकूट विधान सभा से विधायक निर्वाचित हुए । वे बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष रहे हैं। बस्तर जिला पंचायत के सदस्य भी रहेे हैं।

कांकेर- इस लोकसभा से उम्मीदवार मोहन मंडावी वर्तमान में छत्तीसगढ लोक सेवा आयोग के सदस्य हैं। धार्मिक और सामाजिक क्षेत्र में सक्रिय मोहन मंडावी राष्ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ से जुडे हुए हैं । वे रामकथा मानस गायक भी हैं।

रायगढ़- लोकसभा सीट कीे उम्मीदवार गोमती साय पूर्व में मण्डल अध्यक्ष का दायित्व सभाल चुकी है। वर्तमान में जशपुर जिला पंचायत अध्यक्ष हैं। वे जनपद पंचायत की सदस्य भी रह चुकी हैं।

सरगुजा- इस लोकसभा से पूर्व मंत्री रेणुका सिंह को उम्मीदवार बनाया है। वे प्रेमनगर से विधायक दो बार निर्वाचित हुई हैं। 2003 से 2005 तक महिला बाल विकासअ मंत्री भी रही हैं। वे 2005 से 2013 तक सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष रही हैं।

जांजगीर-चांपा से पूर्व संसद गुहाराम अजगले को उम्मीदवार बनाया है। वे अविभाजित सारंगढ लोकसभा से सांसद रहे हैं। वर्तमान में प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य हैं।

error: Content is protected !!