गौ माता की सेवा मे बना दिया गौ एम्बुलेंस

 

धीरज शिवहरे
(कोरिया बैकुंठपुर) मन मे यदि सच्ची सेवा भावना हो तो वो न इंसान देखता है न जानवर हम बात कर रहे हैं जिला मुख्यालय बैकुंठपुर के गौ रक्षा वाहिनी की एक और अनूठी पहल की जहां गौ रक्षा वाहिनी के द्वारा चोटिल अवस्था मे पशुओं व गायों के लिए इस संस्थान ने चलता फिरता अस्पताल खोल दिया ज्यादातर देखने को मिलता है कि सड़कों पर आवारा पशु दिन बदिन हादशों का शिकार होते हैं और तत्काल इलाज न हो पाने के कारण कई पशुओं की मौत हो जाती है इसी कडी में गौ रक्षा वाहिनी के द्वारा निःस्वार्थ भाव से इस नेक कार्य की शुरुआत की जा रही है विदित हो कि कुछ महीने पूर्व ही इस संस्था के द्वारा रोटी बैंक की शरुआत की गई है जिसके जिले सहित प्रदेशभर मे चर्चा हुई है।

जब प्रशासन से नही मिला सहयोग तो स्वयं की शुरुआत

गौ रक्षा वाहिनी के सदस्यों के द्वारा लगातार ही गौ सेवा की जाती है साथ ही यदि किसी गौ की किसी कारणवश मृत्यु हो जाती है तो स्वयं के खर्च से सदस्यों द्वारा पूरे विधिविधान से गौ माता की अंतिम क्रिया की जाती है व इस संस्था के सदस्यों ने पिछली सरकार से लगातार गौ एम्बुलेंस व और भी सुविधाओं की उम्मीद की थी जो कि सम्भव नही हो सकी गौ रक्षा वाहिनी के जिलाध्यक्ष अनुराग दुबे ने बताया कि जल्द ही गौ एम्बुलेंस सडकों पर दौडेगी ताकि गौ माता का जल्द उपचार सम्भव हो सकेगा इसके अलावा पशु चिकित्सालय मे एक गौ एम्बुलेंस उपलब्ध है पर अधिकारी उसका दुरुपयोग करते हैं इस सुविधा के शुरू होने से पशु चिकित्सालय मे व्यस्तता आएगी जो कि गौ माता के इलाज हेतु सक्रिय कम रहते हैं।

error: Content is protected !!