रतनपुर थाना क्षेत्र में चोरी लूटपाट सेंधमारी की बढ़ रही घटना, अवैध कारोबार भी चरम सीमा पर

00 रतनपुर थाना प्रभारी को हटाने की मांग को लेकर हस्ताक्षर अभियान में जुटे, जल्द ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सौंपेंगे ज्ञापन 

करगी रोड कोटा। रतनपुर थाना क्षेत्र में लूट चोरी सेंधमारी की घटनाएं नहीं थम रही है  । एक सप्ताह के अंदर सेंधमारी की आज दूसरी घटना  हुआ है । जिसे की अज्ञात चोरों ने पंजाब नेशनल बैंक चपोरा में घटना को अंजाम दिया है । जहां पर बैंक मैनेजर की सूचना पर रतनपुर पुलिस टीम  मौके पर पहुंचकर जांच में जुटी है । वहीं इस घटना को अंजाम दे रहे दो अज्ञात नकाबपोश चोर  सीसी टीवी फुटेज में कैद हो गए है। जिसकी फुटेज रतनपुर पुलिस ने बैंक मैनेजर से मंगवाया है ।  इस मामले को लेकर बैंक कर्मचारियों ने कुछ लोगों पर आशंका जाहिर की है । फिलहाल रतनपुर पुलिस इस मामले को लेकर जांच में जुटी है ।

इस संबंध में ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि इन दिनों रतनपुर थाना क्षेत्र में लूट चोरी सेंधमारी की घटनाएं लगातार बढ़ रही है  एक सप्ताह के अंदर सेंधमारी की यह दूसरी घटना है । वहीं लूट का सिलसिला भी रतनपुर थाना क्षेत्र में बढ़ गया है । जिसे की रोकथाम करने में पुलिस प्रशासन असफल है । अज्ञात चोर लुटेरे बेखौफ होकर रतनपुर थाना क्षेत्र में घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं जिन्हें पकड़ने के लिए रतनपुर पुलिस हवा में हाथ पैर मार रही है । लेकिन घटना को अंजाम देने के बाद बड़ी आसानी से अज्ञात चोर निकल जा रहे हैं जिनके संबंध में रतनपुर पुलिस कोई सुराग नहीं लगा पा रही है जनता से तालमेल नहीं होने के कारण भी ग्रामीण इन घटनाओं को एक कारण मान रहे हैं जबकि रतनपुर पुलिस की मुखबिरी तंत्र भी फेल हो गई है जिसे कि लोग दूसरा कारण मान रहे हैं वहीं गस्त के दावे की लगातार पोल खुल रही है रात में पुलिसकर्मी चौक चौराहों पर कहीं पर भी नजर नहीं आ रहे हैं जिसके चलते पुलिसिया कार्यप्रणाली को लेकर लगातार ग्रामीणों के बीच सवालिया निशान उठ रहा है उनका मानना है कि  चोर लुटेरे नकाबपोश रतनपुर थाना क्षेत्र में घटनाओं को अंजाम देकर बड़ी आसानी से चले जा रहे हैं ।

बैंक कर्मचारियों ने आशंका जाहिर की :-  पंजाब नेशनल बैंक चपोरा में बीती दरमियानी रात अज्ञात चोरों ने बैंक के पीछे से सेंधमारी कर चोरी की घटनाओं को अंजाम देने का प्रयास किया है, लेकिन वे असफल रहे बैंक कर्मचारियों के द्वारा बताया जाता है कि एक ट्रक चपोरा गेट में फस गया था । जिसे रात 8 बजे से लेकर देर रात 2:30 बजे तक बड़ी मुश्किल से गेट को तोड़कर ट्रक को निकाला गया है । इस ट्रक में  आए लोगों की चेहरा हूबहू दोनों नकाबपोशो  मिल रही है ।

दो नकाबपोशो का चेहरा सीसीटीवी फुटेज में कैद :- इस सेंधमारी की घटना को दो अज्ञात चोरों ने शनिवार रविवार की बीती दरमियानी रात 3 बजे करीब से पंजाब नेशनल बैंक की पीछे दीवार को सबल से छेद बना कर बैंक के अंदर में 3:29 में प्रवेश किया । जहां पर पहुंचने के बाद टार्च की रोशनी जलाकर आसपास कमरे को देखा । उसके बाद बोर्ड को देख कर लाइट जलाया । वहीं कमरे अंदर अलमारियों को देखा । उसके बाद 3:48 तक कमरे में काफी खोजबीन कि जब उन्हें कुछ नहीं मिला तो वह जिस रास्ते से आए थे उसी रास्ते से वापस लौट गए इस सेंधमारी घटना की सीसीटीवी फुटेज में उन दोनों अज्ञात नकाबपोश चोरों की तस्वीर कैद होती रही ।

बैंक कर्मचारियों की सूचना पर  पहुंची पुलिस :- ग्रामीण अंचल चपोरा में सेंधमारी की घटना की सूचना बैंक कर्मचारियों ने रतनपुर पुलिस को दूरभाष पर दिया । तब रतनपुर थाना प्रभारी मान सिंह राठिया चपोरा पहुंचे । जहां पर उन्होंने इस मामले की पूरी जानकारी बैंक कर्मचारियों से लिया । वही काफी देर तक पूछताछ करते रहे तथा सेंधमारी स्थल का फोटोग्राफी किया । उसके बाद अपने टीम को आवश्यक दिशा निर्देश दिया । । वहीं सीसीटीवी फुटेज देखा जिसमें दो अज्ञात नकाबपोश  चोर इस घटना को अंजाम देते कैद हो गए थे । उनका फुटेज बैंक मैनेजर से मंगवाया है । जिसके पश्चात वे घटनास्थल से जांच कर वापस लौट गए ।

एक सप्ताह में तीसरी बड़ी घटना :- रतनपुर थाना क्षेत्र में सबसे पहले रानी गांव में अज्ञात चोरों ने एक किराना दुकान में सेंधमारी कर 1,83,000 रुपए की चोरी की  घटना को अंजाम दिया । जिसके पश्चात दद्दू स्टाइगर गैंग ने शनिवार को दिनदहाड़े शनिचरी मवेशी बाजार में ठेकेदार के कर्मचारी से लूटपाट की 25,000 रुपए की घटना को अंजाम दिया । इस घटना में एक आरोपी पकड़ा गया । जबकि इसी दिन शनिवार और रविवार की बीती दरमियानी रात दो अज्ञात नकाबपोश चोरों ने पंजाब नेशनल बैंक चपोरा में सेंधमारी कर चोरी का प्रयास किया। लेकिन उन्हें बैंक से दस्तावेजों के सिवा कुछ नहीं मिला है ।फिलहाल रतनपुर पुलिस तीनों ही मामलों को लेकर में जांच में जुटी है ।

पूर्व में हुआ था घटना :- ग्रामीण अंचल चपोरा के ग्रामीणों का कहना है कि 8 से 10 वर्ष करीब पूर्व   पंजाब नेशनल बैंक  में  अज्ञात चोरों ने इसी तरह की घटना को अंजाम दिया था । उसके बावजूद भी बैंक कर्मचारी इतने लापरवाह हो गए हैं कि सुरक्षा व्यवस्था को लेकर गंभीर नहीं है । बैंक में कोई भी सुरक्षा गार्ड नहीं है । जिसके चलते सेंधमारी की घटना को अंजाम देने का प्रयास किया गया है लेकिन चोर इस घटना में असफल रहे हैं ।

कई चोरियों का अब तक सुराग नहीं :- रतनपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत नगर के साथ ग्रामीण अंचल में कई छोटी मोटी बड़ी चोरियां हुई है लेकिन रतनपुर पुलिस इन चोरियों की  सुराग नहीं लगा पाई है । जिसके चलते ग्रामीण लगातार पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगा रहे हैं । उनका कहना है कि रतनपुर थाना क्षेत्र नशे की गिरफ्त में है  जुआ, सट्टा, शराब, गांजा, नाइट्रा, कोरेक्स, सुलेशन  धड़ल्ले से चल रहा है ।

जिसके चलते घटनाएं घट रही है ।

नगरवासी लगा रहे आरोप :- नगर वासियों का कहना है कि कोयला का अवैध कारोबार चरम सीमा पर है जबकि क्षेत्र में कबाड़ीयो का दुकान भी खुल गया है । जहां पर चोरी की खरीदी बिक्री धड़ल्ले से चल रही है जिसे भी लोग चोरी का लगातार  बढ़ना कारण मान रहे हैं ।

पुलिस को मिल सकता है अहम सुराग :- पंजाब नेशनल बैंक चपोरा  में हुए सेंधमारी की घटना के मामले में ग्रामीणों का कहना है कि सड़क किनारे कुछ दुकानों में कैमरा लगा हुआ है जहां पर जाकर यदि रतनपुर पुलिस सीसी टीवी फुटेज देखती है तो उसे इस सेंधमारी की घटना के संबंध में अहम सुराग मिल सकता है ।

पुलिस ने मीडिया से बनाई दूरी :- रतनपुर थाना प्रभारी मान सिंह राठिया से जब इस सेंधमारी के घटना के संबंध में नगर के इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया के द्वारा जानकारी लेने का प्रयास किया गया तो उन्होंने घटना के संबंध में कहा कि अभी हम कोई जानकारी नहीं दे पाएंगे  । रतनपुर थाना में बैंक मैनेजर के रिपोर्ट के पश्चात ही कोई जानकारी देंगे  क्योंकि इस मामले में कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं हुआ है । अभी हम लोगों के द्वारा जांच की जा रही है ।

क्या कहते हैं गांव के लोग :- रतनपुर थाना क्षेत्र में लगातार चोरी, लूट, सेंधमारी,  की घटनाएं बढ़ रही है जिसे लेकर ग्रामीण रतनपुर थाना प्रभारी मान सिंह राठिया को हटाने के लिए हस्ताक्षर अभियान कराने में जुटे  हैं । उनका कहना है कि ग्रामीणों के हस्ताक्षर अभियान पूर्ण होने के बाद थाना प्रभारी को हटाने के लिए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को  ज्ञापन सौंपा जाएगा ।

 

error: Content is protected !!