भूपेश कैबिनेट का फैसला, महेन्द्र कर्मा के सुपुत्र को बनाया गया डिप्टी कलेक्टर

०० शहीद महेंद्र कर्मा के बेटे आशीष कर्मा को दी गई है अनुकंपा नियुक्ति

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनते ही प्रदेश में सालों से उपेक्षा में रहे कांग्रेसी परिवारों को अब राहत मिलने लगी है। सबसे पहले सरकार ने झीरम हमले की जांच के लिए एसआईटी गठित करने का निर्णय लिया। इससे शहीदों के परिजनों में आरोपियों पर कार्रवाई के लिए आशा की एक नई किरण जगी और अब राज्य सरकार बस्तर टाइगर के नाम से विख्यात महेन्द्र कर्मा के सुपुत्र को डिप्टी कलेक्टर की नौकरी देने कैबिनेट में निर्णय लिया गया है। आशीष कर्मा झीरम हमले में मारे गए महेंद्र कर्मा के तीसरे बैटे है।
बैठक के बाद संसदीय कार्य मंत्री रविंद्र चौबे ने बताया कि बैठक में किसानों के और वनवासियों के मुद्दे पर चर्चाएं हुई है। राज्य सरकार के पास महेंद्र कर्मा के बेटे को अनुकंपा नियुक्ति देने का प्रस्ताव आया था। राज्य सरकार ने उन्हें डिप्टी कलेक्टर बनाने के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी है।  यहां पर यह बताया जरुरी होगा कि महेंद्र कर्मा की हत्या नक्सलियों ने झीरम हमले में 25 मई 2013 को की थी। महेंद्र कर्मा की हत्या के बाद उनकी पत्नी देवती कर्मा दंतेवाड़ा से चुनाव जीती थी, लेकिन इस बार वो चुनाव हार गई।

 

error: Content is protected !!