विधानसभा : बिजली बिल हाफ करने के मुद्दे पर विधानसभा में हंगामा

०० नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा,  400 युनिट की बाध्यता आम लोगों के साथ धोखा

रायपुर। बिजली बिल हाफ करने को लेकर छत्तीसगढ़ विधानसभा में सोमवार सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच जमकर हंगामा हुआ। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने सदन में ये सवाल पूछा कि बिजली बिल को हाफ करने को लेकर सरकार की कोई योजना है क्या और किन-किन लोगों का बिजली बिल हाफ किया जायेगा?जिसके जवाब में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि मार्च से बिजली बिल को हाफ करने का फैसला सरकार ने लिया है। अप्रैल से बिजली बिल हाफ होकर मिलेगा। 400 यूनिट तक का उपभोग करने वाले लोगों का बिजली बिल हाफ किया जायेगा, वहीं बीपीएल परिवारों को भी इसका लाभ मिलेगा।

इस पर पूरक सवाल पूछते हुए धरमलाल कौशिक ने कहा कि 400 यूनिट की बाध्यता रखना आमलोगों के साथ धोखा है, उन्होंने इस बाध्यता को हटाने की मांग की। वहीं किसानों के पंप के लिए भी विशेष प्रावधान की मांग की।इसके बाद विपक्ष ने सरकार पर किसानों को छलने और जनता को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए वाकआउट कर दिया। सत्ता पक्ष पर विपक्ष ने आरोप लगाया कि जनता को कांग्रेस ने कहा था कि बिजली बिल पूरा हाफ किया जाये और अब उसे400 यूनिट में बांधा जा रहा है। प्रदेश में विद्यमान बीपीएल सहित घरेलू उपभोक्ताओं की संख्या में रायपुर जिले में 497418, धमतरी जिले में 15281, बलोदा बाजार में216614, महासमुंद में 191599, गरियाबंद में 83769, दुर्ग में 381894, बालोद में 128313, बेमेतरा में 140752,  कबीरधाम में 134524, बस्तर में 171539 ,दंतेवाड़ा में 62807, बीजापुर में 37805, सुकमा में 49029 ,उत्तर बस्तर में 144321, नारायणपुर में 25031, बिलासपुर में 338734 में,मुंगेली में 109946,कोरबा में180517,जांजगीर में 273259,रायगढ़ में 25770,सरगुजा 148637, बलरामपुर 106549, कोरिया में 114562,सूरजपुर 83044 बीपीएल सहित घरेलू उपभोक्ताओं की संख्या है।

error: Content is protected !!