विधानसभा : दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर चल रही योजनाओं के नाम बदलने पर भाजपा ने किया हंगामा

०० भाजपा ने कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुए काम रोको प्रस्ताव लाने की मांग की

रायपुर| छत्तीसगढ़ विधानसभा में बजट पर चर्चा के दूसरी दिन विपक्ष ने दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर चल रही योजनाओं को बदलने को लेकर जमकर हंगामा किया। भाजपा ने कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुए काम रोको प्रस्ताव लाने की मांग की।

भाजपा विधायकों ने कहा कि पुण्यतिथि के दिन नाम बदलना महापुरुष का अपमान है, यह अलोकतांत्रिक है। कांग्रेस विधायकों ने भाजपा को जवाब में पिछला दौर याद दिलाते हुए कहा कि उन्होंने जब बदला था तो प्रक्रिया लोकतांत्रिक थी क्या। इस बयान के बाद सदन में जमकर हंगामा हुआ। विधानसभा अध्यक्ष ने भाजपा के स्थगन प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया। थोड़ी देर तक हंगामे की स्थिति बनी। विधानसभा में सिम्स में हुई घटना को लेकर जमकर बवाल हुआ। धर्मजीत सिंह ने कहा कि सिम्स नर्क है, सिम्स में एक और अग्निकांड हो चुका है वहां डाक्टरी छोड़कर सारे काम करते हैं। इस बयान पर जवाब देते हुए टीएस सिंहदेव ने कहा कि सिम्स में बच्चों की मौत धुएं की वजह से नही बल्कि पुरानी बीमारी की वजह से मौत हुई है। सदन में ही कानून व्यवस्था पर ध्यानाकर्षण के दौरान सभापति से भाजपा विधायक उलझ गए। विरोध में कहा कि वे सवाल नहीं पूछेंगे।

कानून व्यवस्था पर भाजपा ने सरकार को घेरा:- छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज भाजपा विधायकों ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सरकार को घेरेने की कोशिश की। छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में लगातार बढ़ती आपराधिक घटनाओं पर विपक्ष सरकार पर लगातार सवाल करता रहा। आज मंत्री से मिलने वाले जवाब के बाद दूसरे सवालों के जवाब नहीं आने पर व्यवस्था से नाराज विपक्ष ने वॉक आउट किया।

सलाहकार ने नाम पर सदन में गरमाया माहौल:- छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज भाजपा विधायक अजय चन्द्राकर ने मुख्यमंत्री के सलाहकारों पर टिप्पणी की। चन्द्रकार ने कहा कि सरकार में सोचने का काम वामपंथी सलाहकारों के पास है। चन्द्राकर के इस बयान पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि किसे सलाहकार रखना है या नहीं यह उनसे पूछकर नहीं रखेंगे। इस पर विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने मामले को शांत कराने की कोशिश की।

error: Content is protected !!