कोटा पुलिस ने दिखाई तत्परता, घटना के 48 घंटो के अंदर ही चोरों को पकड़ा

०० कोटा नगर में हुई चोरी की घटना पर भी विवेचना जारी, पुलिस की तत्परता की हो रही तारीफ़

०० जल्द ही किया जाएगा मामले का खुलासा : थाना प्रभारी कोटा 

करगीरोड-कोटा| बिलासपुर  और कोटा नगर के आसपास गांव में लगातार चोरी की घटनाओं से पुलिस विभाग व पुलिस विभाग के आला अधिकारी हलकान और परेशान हैं, हाल के दिनों में कोटा नगर व कोटा थाना के अंतर्गत आसपास गांव मे हो रही लगातार चोरी से पुलिस के भी हाथ पांव फुले हुए थे, चोरों ने पुलिस के नाक में दम कर रखा था, कोटा पुलिस द्वारा लगातार रात में गश्त करने के दौरान भी चोरियां रुक नहीं रही थी, उसी कड़ी में पिछले दिनों कोटा थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत गोकुलपुर में ओम प्रकाश मेरसा के सुने घर पर दोपहर में घरवालों की अनुपस्थिति में अज्ञात चोरों द्वारा घर के अंदर रखी पेटी का ताला तोड़कर पेटी  मे रखा सोने-चांदी के जेवर को ले उड़े थे, जिसके बाद प्रार्थी ओम प्रकाश मेरसा द्वारा कोटा थाने में रिपोर्ट लिखाने के बाद कोटा पुलिस द्वारा भादवि 454, 380 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना शुरू किया गया।

विवेचना के दौरान पुलिस अधीक्षक बिलासपुर अभिषेक मीणा के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती अर्चना झा एवं एसडीओपी कोटा अभिषेक सिंह के मार्गदर्शन पर थाना प्रभारी कोटा कृष्णा पाटले एवं उनकी टीम द्वारा विवेचना प्रारंभ की गई, विवेचना के दौरान मुखबिर से सूचना मिली के गांव के ही दो नाबालिग बच्चों ने चोरी की घटना को अंजाम दिया गया है ,जिस पर कोटा थाना प्रभारी और टीम द्वारा गांव में दबिश देकर चोरी में शामिल नाबालिग बच्चों को पकड़कर कोटा थाने लाया गया, नाबालिग बच्चों ने चोरी की घटना को अंजाम देना स्वीकार किया, नाबालिग बच्चों से चोरी किए गए सोने एवं चांदी के जेवर जिसमे की एक सोने का मंगलसूत्र, दो सोने की कान के आभूषण, एक फुल्ली सहीत,दो चांदी की अंगूठी जिसकी कीमत लगभग 30000=00 थी, चोरी का माल बरामद कर दोनों नाबालिक बच्चों को किशोर न्याय बोर्ड बिलासपुर भेज दिया गया। इस तरह कोटा पुलिस द्वारा तत्परता दिखाते हुए चोरी के मामलों को 48 घण्टे के अंदर ही सुलझा दिया गया, इसके अलावा कोटा नगर के साथ आसपास गांव में हुए चोरी के मामले को लेकर कोटा थाना प्रभारी कृष्णा पाटले द्वारा बताया गया, कि चोरी के अधिकांश मामले में नाबालिगों के शामिल होने की संभावना दिखाई पड़ रही है,या फिर चोरों द्वारा नाबालिग बच्चों से चोरी करवाई जा रही है, जिस पर पुलिस द्वारा जांच की जा रही है ,उसके अलावा पुलिस द्वारा मुखबीर भी लगाए गए हैं क्योंकि कोटा थाने के अंतर्गत रेल सेवा भी जारी है, तो इस बात की भी आशंका जताई जा रही है ,ट्रेन रूट होने के कारण बाहर से चोरों का आना जाना भी प्रतीत होता दिखाई पड़ रहा है, स्थानीय व्यक्तियों के शामिल होने की भी संलिप्तता की संभावना भी व्यक्त की जा रही है, लगातार हो रही चोरी की घटनाओं को देखते हुए कोटा पुलिस द्वारा गस्त और तेज कर दी गई है स्वयं थाना प्रभारी कोटा द्वारा रात में गश्त की जाने की बात बताई गई।

 

error: Content is protected !!