हल्बा समाज कर्मचारी प्रकोष्ठ के नववर्ष मिलन समारोह में शामिल हुए बृजमोहन अग्रवाल

रायपुर। हल्बा आदिवासी समाज ने शिक्षा के क्षेत्र में काफी तरक्की की है। छत्तीसगढ़ में ही 4 जिलों के कलेक्टर हल्बा आदिवासी समाज से है। हम यह कह सकते है कि अब यह समाज सफलता की ओर अग्रसर है। राज्य के प्रशासन में इनकी भूमिका काफी अहम है। इनकी प्रशासनिक दक्षता और कार्यकुशलता का छत्तीसगढ़ की प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान है। यह बात विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने अखिल भारतीय हल्बा समाज कर्मचारी प्रकोष्ठ के नव वर्ष मिलन समारोह के दौरान कही। वे अमलेश्वर में आयोजित इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। इस दौरान बृजमोहन अग्रवाल ने उपस्थितजनों को नववर्ष की बधाई दी। बृजमोहन ने कहा कि आदिवासी समाज के लगभग सभी कार्यक्रमों में बतौर अतिथि शामिल होने का सौभाग्य मिलता है। अपने राजनीतिक जीवन के लगभग 30-35 सालों में मैंने आदिवासी समाज को समृद्धि की राह पर बढ़ते हुए देखा है। सरल सहज यह वंचित समाज आज अपनी संस्कृति और परंपराओं को सहेज कर बढ़ता जा रहा है।
इस दौरान अग्रवाल ने अपने विधायक निधि से सामाजिक भवन के लिए 5 लाख रुपए देने करने की स्वीकृति दी। समारोह में अनुसूचित जनजाति आयोग अध्यक्ष जीआर राणा, बालोद महासभा के अध्यक्ष बीएल ठाकुर, रायपुर संभाग के आयुक्त जीआर चुरेन्द्र, मुंगेली कलेक्टर डोमन सिंह ठाकुर, बलरामपुर कलेक्टर एचएल नायक, पीआर नाईक, कर्मचारी प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीएस रावटे, बीएस ठाकुर आदि उपस्थित थे।

error: Content is protected !!