विधानसभा अध्यक्ष महंत द्वारा पत्रकारों से अभद्रता पर बिफरा रायपुर प्रेस क्लब

०० पत्रकारों ने की मांग, जल्द से जल्द पत्रकार सुरक्षा कानून अस्तित्व में लाया जाए

रायपुर| प्रेस क्लब ने विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत द्वारा जांजगीर-चांपा में पत्रकारों के प्रति असंयत व्यवहार की तीव्र निंदा करते हुए कहा है कि विधानसभा अध्यक्ष के पद पर बैठे व्यक्ति से पत्रकारों सहित सभी से संवेदनशील व्यवहार की अपेक्षा की जाती है किंतु यह अत्यंत खेद का विषय है कि छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष ने अपने पद की गरिमा के विपरीत आचरण करते हुए पत्रकारों के प्रति असंवेदनशील व्यवहार का प्रदर्शन किया है। प्रेस क्लब अध्यक्ष दामू आम्बेडारे, उपाध्यक्ष प्रफुल्ल ठाकुर, महासचिव प्रशांत दुबे, कोषाध्यक्ष शुगुफ्ता शिरीन, सहसचिव अंकिता शर्मा, गौरव शर्मा सहित वरिष्ठ पत्रकारों ने इस घटना की निंदा करते हुए आगाह किया है कि भविष्य में यदि पत्रकारों के प्रति किसी भी स्तर पर दुव्यर्वहार सामने आया तो हर स्तर पर तीव्र विरोध किया जायेगा।

प्रेस क्लब अध्यक्ष दामू आम्बेडारे ने कहा है कि इस मामले को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के संज्ञान में लाकर यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया जायेगा कि जल्द से जल्द पत्रकार सुरक्षा कानून अस्तित्व में लाया जाये और हर स्तर पर पत्रकारों की प्रतिष्ठा पर आघात करने वालों, उनका अपमान करने वालों पर समानता के सिद्वांत के तहत कार्रवाई की जाय। श्री आम्बेडारे ने कहा कि छत्तीसगढ़ में प्रतिपक्ष भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में पत्रकारों के उत्पीड़न के मामले में रायपुर प्रेस क्लब सहित छत्तीसगढ़ का समूचा मीडिया जगत उद्वेलित है। भाजपा कार्यालय में पत्रकारों के उत्पीड़न के विरूद्व रायपुर प्रेस क्लब के तत्वावधान में पांच दिन से लगातार अनिश्चितकालीन धरना चल रहा है और समूचे प्रदेश के पत्रकारों, सामाजिक, राजनीतिक संगठनों सहित आम जनता का भरपूर समर्थन मिल रहा है। भाजपा द्वारा पत्रकारों के प्रति दुर्भावनापूर्ण कार्रवाई के खिलाफ संघर्ष में छत्तीसगढ़ के पत्रकार जुटे हुए हैं, अब तक भाजपा की ओर से कोई सदाशयता का प्रदर्शन तो सामने आया नहीं, इस बीच विधानसभा अध्यक्ष श्री महंत ने भी अपने अनुचित व्यवहार से यह प्रतीत करा दिया कि सत्ता से उतरे लोगों का घमंड अभी उनके व्यवहार से उतरा नहीं और सत्तापक्ष की ओर से विधानसभा अध्यक्ष जैसे प्रतिष्ठित पद पर आसीन व्यक्ति ने संकेत दे दिया कि उनके मन में लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के प्रति कितना सम्मान है। रायपुर प्रेस क्लब अध्यक्ष श्री आम्बेडारे ने कहा है कि प्रदेश में किसी भी स्तर पर किसी पत्रकार साथी के स्वाभिमान को आहत करने वाले को किसी भी स्थिति में बख्शा नहीं जायेगा। यदि विधानसभा अध्यक्ष श्री महंत ने जांजगीर की घटना के लिए खेद प्रकट नहीं किया तो रायपुर प्रेस क्लब द्वारा पत्रकारों के सम्मान में उनके विरुध्द भी निर्णायक मोर्चा खोल दिया जायेगा।

error: Content is protected !!