भाजपा हठधर्मिता छोड़कर आंदोलनरत पत्रकारों की मांग माने : कांग्रेस

०० भाजपा का लोकतंत्र की चतुर्थ स्तम्भ के साथ टकराव भाजपा को ले डूबेगा

०० मुख्यमंत्री भुपेश बघेल पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर चिंतित, छत्तीसगढ़ में जल्द बनेगा पत्रकार सुरक्षा कानून

रायपुर। प्रेस क्लब के द्वारा भाजपा से दोषियों पर कार्यवाही की मांग को लेकर दिये जा रहे अनिश्चितकालीन धरना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा को हठधर्मिता छोड़कर आन्दोलनरत पत्रकारों की मांग को स्वीकार करना चाहिये। भाजपा का लोकतंत्र के चतुर्थ स्तम्भ के साथ हो रही टकराव भाजपा को ले डूबेगा।

एकात्म परिसर में पत्रकारों के साथ घटित घटना  के बाद पत्रकार लहूलुहान हो कर निकले थे। महिला पत्रकार के साथ भी अभद्रता हुई थी। इस पूरे घटना के लिए भाजपा की हिटलरशाही मानसिकता सोच ही जिम्मेदार है। भाजपा कार्यलय में पत्रकारों के साथ हुई बर्बरता के बाद पत्रकारों को अपनी जान माल  की सुरक्षा को लेकर चिंतित होना ेलाजमी है। एकात्म परिसर की घटना के पहले भी कई बार भाजपा से जुड़े लोगों ने पत्रकारों को चुप कराने पत्रकार एवं पत्रकार के परिवार को धमकी व जानलेवा हमला किये है। पत्रकार हमेशा आईना और सचेतक की भूमिका निर्वहन करती है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस सरकार के मुखिया मुख्यमंत्री भुपेश बघेल की सरकार पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर गम्भीर है भाजपा शासनकाल के दौरान छुरा, बस्तर, बिलासपुर सहित अन्य स्थानों में पत्रकारों एवं पत्रकारों के परिवार पर हुये जानलेवा हमला की घटना को देखकर  पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने जा रही है। छत्तीसगढ़  देश में पहला राज्य होगा जहाँ पत्रकार की सुरक्षा के लिये कानून बनेगा।

 

error: Content is protected !!