छत्तीसगढ़ के मोदी हैं मुख्यमंत्री भूपेश, विरोधियों से बदला लेने प्रशासनिक तंत्र का कर रहे दुरुपयोग : अमित जोगी

०० छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक अमित जोगी ने की भूपेश सरकार की तीखी आलोचना

रायपुर| अंतागढ़ टेप कांड में एफआईआर दर्ज होने के बाद छत्तीसगढ़ में राजनीति में तेज हो गई है। अंतागढ़ टेप कांड में एफआईआर दर्ज होने पर छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक अमित जोगी ने भूपेश सरकार की तीखी आलोचना की है। मीडिया से चर्चा के दौरान जोगी ने भूपेश बघेल पर प्रशासन और पुलिस तंत्र के दुरुपयोग का आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी केन्द्रीय जांच एजेंसी सीबीआई का दुरुपयोग कर रहे हैं, ठीक उसी तरह छत्तीसगढ़ के मोदी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी अपने राजनीतिक विरोधियों से बदला लेने के लिए प्रशासन और पुलिस तंत्र के दुरुपयोग कर रहे हैं। इसमें न मोदी सफल होने वाले हैं और न बघेल सफल होने वाले हैं, क्योंकि देश और प्रदेश में व्यक्ति का राज नहीं चलता है, बल्कि कानून और भारत के संविधान का राज चलता है। जोगी ने 8 अक्टूबर2018 को भूपेश बघले ने कहा था कि अंतागढ़, मूणत और पुनिया स्टिंग ऑपरेशन सभी की जांच हाईकोर्ट के एक सीटिंग जज से करावाएंगे। क्या मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठते ही उनका न्यायपालिका से उनका भरोसा उठ गया। जोगी ने इन तीनों प्रकरण की हाईकोर्ट के एक सीटिंग जज से जांच करवाए जाने की मांग की। क्योंकि तीनों प्रकरणों का एक ही मास्टरमाइंड है, हमारे मुख्यमंत्री। दरअसल, छत्तीसगढ़ की राजनीति में भूचाल लाने वाले अंतागढ़ टेप कांड सामने आने के तीन साल बाद एक बड़ी कार्रवाई हुई है। इस केस में अजीत जोगी, उनके बेटे अमित जोगी, पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता, राजेश मूणत और मंतूराम पवार पर धोखाधड़ी और पैसों के प्रलोभन और भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं के तहत मामला पंडरी थाने में दर्ज किया गया है। कांग्रेस की वरिष्ठ महिला नेता किरणमयी नायक की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की गई है।

error: Content is protected !!