उर्दू को सर्वसुलभ बनाने नई तकनीक से जोड़ने की है जरुरत : संजय श्रीवास्तव

०० जश्ने-फरोगे जबाने-उर्दू मोटीवेशन कार्यक्रम में शामिल हुए आरडीए अध्यक्ष श्रीवास्तव

रायपुर। जश्ने-फरोगे जबाने-उर्दू मोटीवेशन कार्यक्रम आज जेएन पाण्डेय शासकीय स्कूल में हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रायपुर विकास प्राधिकरण अध्यक्ष एवं भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव थे। उन्होंने छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी के सभी सदस्यों को आयोजन के लिए बधाई और शुभाकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि उर्दू भाषा किसी वर्ग विशेष की भाषा न होकर आम आदमी की भाषा है और इसे लोकप्रिय और सर्वसुलभ बनाने के लिए नई तकनीक से जोड़ने की जरूरत है। 
उन्होंने कहा कि नई पीढ़ी को इस भाषा से जोड़ने का प्रयास होना चाहिए। उर्दू महत्व की भाषा है। सभी भाषाएं राष्ट्रीय और एक समान होती है कोई भी भाषा छोटी या बड़ी नहीं होती है। भारत में उर्दू, हिन्दी के बाद सब से ज्यादा बोली और समझी जाने वाली भाषा है। उन्होंने कहा उर्दू का अपना एक शानदार इतिहास रहा है। उर्दू को समृद्ध करने में हिन्दू और मुसलमानों ने संयुक्त रूप से काम किया है। फिराक गोरखपुरी, बृज नारायण चकबस्त जैसे अनेक नाम हैं जिन्होंने उर्दू साहित्य को समृद्ध किया है। पहली जंग-ए-आजादी में उर्दू पत्रकारिता ने अखबारों के माध्यम से जनता तक संदेश पहुँचाने का महत्वपूर्ण योगदान दिया। कार्यक्रम में एमआर खान सचिव उर्दू अकादमी, प्रभारी अब्दूल हफीज, हकिजा मैडम, डाॅ सलीम राज भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष, मख्मूर खान, अकरम कुरैशी, सलीम अहमत, फुग्गाभाई, नजमा अजीम, मनसूरी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!