देखे विडियो : बाफना ने खोया अपना आपा, बसंत अग्रवाल की उम्मीद्वारी का साफ नज़र आया खौफ़

०० साजा विधानसभा से बसंत अग्रवाल पिछले एक दशक से है सक्रिय

०० क्षेत्र में जनता के बीच रचनात्मक व धार्मिक आयोजनों के माध्यम से बनाए हुए हैं जीवंत संपर्क

रायपुर|  साजा में आयोजित विधानसभा स्तरीय बूथ व बीएलओ प्रभारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक में गुरुवार को क्षेत्रीय विधायक व संसदीय सचिव लाभचंद बाफना की खीज़ साफ नजर आयी। एक ओर जहाँ देश-प्रदेश के सभी बड़े नेता पूरी साफगोई से स्वीकार करते हैं कि भाजपा में किसी की टिकट पहले से तय नहीं रहती, चुनाव लड़ने या प्रत्याशी चयन का निर्णय पूरी तरह से संगठन पर निर्भर करता है, वही वर्तमान विधायक खुद की टिकट को तय मानते हुए किसी और लोकप्रिय नेता की उम्मीद्वारी के नाम से अपना आपा खो बैठते हैं। उक्त बैठक के दौरान जब एक सामान्य कार्यकर्ता की हैसियत से स्थानीय युवा नेता बसंत अग्रवाल जब मंचस्थ अतिथियों के स्वागत हेतु मंच पर आए तो पूर्वाग्रह से ग्रसित वर्तमान विधायक ने अप्रत्याशित व गैरजिम्मेदाराना व्यवहार का परिचय दिया।

 

साजा विधानसभा में जिस तरह बसंत अग्रवाल पिछले एक दशक से सक्रिय रहते हुए लगातार क्षेत्र में जनता के बीच रचनात्मक व धार्मिक आयोजनों के माध्यम से जीवंत संपर्क बनाए हुए हैं, उसके फलस्वरूप आम जनता व पार्टी कार्यकर्ताओं में युवा नेता बसंत अग्रवाल की टिकट की मांग बेहद बलवती हो गयी है। भरी सभा में जब बसंत अग्रवाल उक्त बैठक में प्रभारी के रूप में आएं पूर्व मंत्री कृष्णमूर्ती बाँधी जी व अन्य अतिथियों का स्वागत करने मंच पर आए विधायक ने मंच में ही पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच बसंत अग्रवाल से जबरदस्ती माइक को छीनकर भरी सभा में बसंत को नीचा दिखाने का कुत्सित प्रयास किया, जिसकी पूरे विधानसभा में आम जनता व भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच तीखी आलोचना व पुरजोर विरोध हो रहा है।

 

 

error: Content is protected !!