स्वस्थ्य और निरोग छत्तीसगढ़ राज्य सरकार की परिकल्पना: अजय चन्द्राकर

००स्वास्थ्य मंत्री ने राष्ट्रीय कृमि नाशक अभियान केसातवें चरण का शुभारंभ किया

रायपुरस्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अजय चन्द्राकर ने आज राजधानी रायपुर में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान के सातवें चरण का शुभारंभ किया। श्रीचन्द्राकर ने इस दौरान प्रतीक स्वरूप आधा दर्जन से अधिक बच्चें तनमय, मारूती, अभिनव, तेजस, प्रिंस, नंदनी, कुसुम और अराधना को कृमिनाशक दवा एल्बेंडाजोल खिलाया। श्री चन्द्राकर ने शुभारंभ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग के किसी भी जनकल्याणकारीकार्यक्रमों की सफलता के लिए जनभागीदारी और जागरूकता का महत्वपूर्ण स्थान है। उन्होेंने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने 25 साल केछत्तीसगढ़ की कल्पना करते हुए कहा है कि इस उम्र के आते आते प्रदेश में सभी परिवार स्वस्थ्य और निरोग हो यही हमारी परिकल्पना है। श्रीचन्द्राकर ने कहा कि मानवता की भावना से प्रत्येक व्यक्ति को राष्ट्र की सेवा के लिए अपना योगदान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि कृमि मुक्ति अभियानको व्यापक बनाए ताकि बच्चों को कृमि मुक्ति के लिए फिर से कृमि की दवा खिलाना न पड़े। श्री चन्द्राकर ने राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के लोगों केस्वस्थ्य के बेहतरी के लिए किए जा रहे प्रयासों कें संबंध में भी विस्तार से जानकारी दी।

उल्लेखनीय है कि 10 सितम्बर को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर प्रदेश में व्यापक अभियान चलाकर एक से 19 बर्ष तक के बच्चों को कृमि केसंक्रमण से मुक्त किया जाएगा। राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर 10 सितम्बर को प्रदेश में बच्चों को कृमि के संक्रमण से बचाने सातवें चरण के लिएव्यापक कृमि मुक्ति अभियान चालाया जाएगा। इस दौरान राज्य के एक से 19 वर्ष तक के बच्चों और किशोरों को आंगनबाड़ी केन्द्रों और स्कूलों मेंकृमि नाशक दवा एल्बेंडाजोल खिलाया जाएगा। किसी कारण वश जिन बच्चों को 10 सितम्बर को कृमि नाशक दवाई नहीं खिलाई जा सकी हो उन्हें14 सितम्बर को मॉपअप दिवस पर कृमि नाशक दवा खिलाकर कृमि मुक्त किया जाएगा।कार्यक्रम में स्वास्थ्य आयुक्त सह संचालक श्री आर.प्रसन्ना, संचालक डॉ सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे, छत्तीसगढ़ मेडिकल कार्पोरेशन के प्रबंध संचालक श्री व्ही रामाराव, संचालक महामाहरी डॉ. आर.आर. साहनी,रायपुर जिला के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी डॉ. एस.के. शाडिल्य सहित संबंधित वरिष्ठ अधिकारी और बच्चें तथा पालक उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!