ये माता कौशल्या का प्रदेश है, लंका नहीं अमित शाह जी जहां अंगद के पैर जमाने की नौबत आए : कांग्रेस

०० अमित शाह का बयान छत्तीसगढ़ की पावन धरती का अपमान, जनता लेगी बदला

रायपुर। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने कहा है कि छत्तीसगढ़ श्री राम की माता कौशल्या का प्रदेश है न कि रावण की लंका जहां अंगद पैर जमाने की नौबत आये। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि 15 साल से कमीशनखोरी कर रही और शराब बेच रही भाजपा सरकार ऐसी पवित्र नहीं है जो अपनी तुलना भगवान राम के दूत अंगद जैसे बलशाली सेनापति से कर सकें।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के द्वारा रमन सरकार की तुलना अंगद के पैर से करने पर सवाल यह उठता है की अंगद ने अपने पैर रावण की सभा में जमाए थे तो क्या यह पूरा प्रदेश रावण की सभा है? ऐसा प्रदेश जिसे माता कौशल्या के नाम पर कौशल प्रदेश के रूप में जाना जाता हो, ऐसा प्रदेश जहां पर भगवान राम वन गमन के प्रमाणिक व ऐतिहासिक साक्ष्य हों, ऐसा प्रदेश जहां पर विश्व में एकमात्र प्रभु लक्ष्मण का मंदिर हो, ऐसा प्रदेश जहां पर विश्व मैं एकमात्र माता कौशल्या जी का मंदिर हो, ऐसे पवित्र पावन प्रदेश की तुलना रावण की सभा से करके अमित शाह ने पूरे छत्तीसगढ़ का अपमान किया है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि भाजपा के नेता दंभ से भर गए हैं और अनर्गल प्रलाप कर रहे हैं। देश की सत्तारूढ़ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का अपनी वाणी पर संयम नहीं बचा है। इसके पहले भी छत्तीसगढ़ की पावन धरा में उन्होंने देश के राष्ट्रपिता का अपमान करते हुये उन्हें चतुर बनिया कहा था इस बार उन्होने प्रदेश की तुलना रावण की सभा से करके प्रदेश की अस्मिता को चुनौती दिया है। प्रदेश की जनता इस अपमान का बदला जरूर लेगी।

 

error: Content is protected !!