शहर बनेगा अब स्मार्ट सिटी मशीनों से होगी शहरों की सफाई

सागर सोनी (बिलासपुर) शहर में सफाई ठेकेदारों को किनारे लगा दिया गया है नगर निगम ने लॉयन सर्विसेस को शहर सफाई व्यवस्था की जिम्मेदारी दी है बुधवार को प्रदेश के मुखिया डॉ रमन सिंह सफाई परियोजना को जनता के हवाले करेंगे कम्पनी को ठेका 58 करोड़ में दिया गया है कम्पनी तीन साल तक इटैलियन स्वीपिंग मशीन से शहर की सफाई करेगी सफाई व्यवस्था की निगरानी विकास भवन स्थित कन्ट्रोल रूम से किया जाएगा निगम आयुक्त ने कहा कि प्रदेश में पहली बार होगा कि सफाई व्यवस्था की निगरानी के लिए कन्ट्रोल रूम बनाया गया है जहां से शहर के कोने कोने की गंदगी पर नजर रखा जाएगा अब तक केवल फायर बिग्रेड कन्ट्रोल रूम, चुनाव कन्ट्रोल रूम हुआ करते थे लेकिन सफाई कन्ट्रोल रूम लम्बी प्रक्रिया का हिस्सा होगा जो साफ सफाई की एक एक गतिविधियों पर नजर रखेगा
मालूम हो कि स्मार्ट सिटी दयोजना में सफाई व्यवस्था भी एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। महसूस किया जा रहा था कि सफाई व्यवस्था में शहर को बेतहर करने की जरूरत है क्योंकि पार्षद ठेकेदारों की लापरवाही के चलते सफाई व्यवस्था को लेकर जब तक उंगली उठती रही है ठेकेदारों का ध्यान केवल कमीशनखोरी पर रहता था यही कारण है कि निगम प्रशासन ने सफाई का ठेका बड़ी कम्पनी के हवाले किया दिल्ली की लायन सर्विसेज लिमिटेड कम्पनी चुनिंदा जगहों को मशीनो से और इसके अलावा वार्डों की गली मोहल्लों में मैनुअल सफाई करेगी। जानकारी हो कि स्वच्छता मापदंड में बिलासपुर नगर निगम को देश के 4 हजार शहरों में 22 वां स्थान हासिल हुए है निगम प्रशासन का प्रयास है कि सफाई व्यवस्था में बिलासपुर को टाप फाईप स्थाना मिले इन्ही बातों को ध्यान में रखकर निगम प्रशासन ने सफाई व्यवस्था की जिम्मेदारी लायन सर्विसेज कम्पनी को दिया है कम्पनी की अत्याधुनिक मशीनें शहर को चकाचक करेंगी।
आयुक्त ने बताया कि इटैलियन स्विपिंग मशीन आंखों से दिखाई नहीं देने वाले धूल के छोटे छोटे कणों से लेकर 10 किलो वाले वजनी पत्थरों को भी शक करेगा मशीन से शहर मुख्य मार्गो की सफाई इटैलियन मशीन से होगी इसके अलावा वार्डो और गलियों की सफाई मैन्यूवल सिस्टम से 14 छोटी बड़ी मशीनों से होगी।
निगम आयुक्त सौमिल रंजन चौबे ने बताया कि शहर की 27 किलोमीटर की मुख्य सड़क मेकेनाइज्ड स्वीपिंग मशीन से होगी शहर के विभिन्न वार्डो 475 किलोमीटर सड़कों को मैनुअल पद्धति से साफ किया जाएगा चौबे ने बताया कि कम्पनी पांच सितम्बर से काम करना शुरू कर देगी 10 सितम्बर से पूरे शहर की सफाई कम्पनी की होगी।

विकास भवन के दृष्टि सभा कक्ष में पत्रवार्ता में कमिश्नर सौमिल रंजन चौबे ने बताया कि कम्पनी को सफाई ठेका के बदले हर महीने 1करोड़ 55 लाख रूपए का भुगतान किया जाएगा कंपनी से तीन साल का अनुबंध किया गया है इन तीन सालों में कम्पनी को सफाई के एवज में 58 भुगतान किया जाेगा भुगतान के पहले सफाई व्यवस्था को लेकर शहर की जनता से फीडबैक लि जाएगी संतोषप्रद सफाई व्यवस्था की सूरत में ही कम्पनी को भुगतान किया जाएगा।

इंजीनियर करेंगे मानिटरिंग
पत्रकारों के सवाल के जवाब में सौमिल रंजन ने बताया कि कंपनी के काम काज पर निगम के योग्य इंजीनियर मानिटरिंग करेंगे जरूरत के अनुसार परारमर्श भी देंंगे जनता से भी संवाद करेंगे पल पल की गतिविधियों की जानकारी भी देंगे।

विकास भवन में कन्ट्रोल रूम
कमिश्नर सौमिल रंजन और मेयर किशोर राय ने बताया कि कम्पनी का कन्ट्रोल रूम विकास भवन में रहेगा चौबे ने बताया कि कन्ट्रोल रूम में कम्पनी ने ज्यादातर मशीने हाईटेक मशीनों को रखा है कन्ट्रोल रूम शहर की सफाई गतिविधियों पर नजर रखा जाएगा स्वीपिंग मशीन की मानिटरिंग गुगल के माध्यम से होगा चौबे ने बताया कि लायन सर्विसेज कन्ट्रोल रूम के लिए दिए गए जगह के एवज में किराया भी देगा।

सफाई कर्मचारी नहीं निकाले जाएंगे।
पत्रकारों को आयुक्त ने बताया कि निगम के किसी भी सफाई कर्मचारी को नहीं निकाला जाएगा। सभी कर्मचारी पहले की तरह काम करेंगे कुछ कर्मचारियों को कम्पनी प्रशिक्षण देकर साफ सफाई प्रक्रिया की जानकारी देंगे सौमिल रंजन बताया कि नगर निगम में रेगुलर और ठेकेदारी के सफाई कर्मचारी है इनमें से किसी को भी नहीं निकाला जाएगा। सभी कर्मचारियों से निगम अपने स्तर पर काम लेगा।

कलेक्टर ने दी बधाई बताया शहर होगा स्मार्ट
कलेक्टर पी दयानंद ने बताया कि मुख्यमंत्री नगरघड़ी और मैकेनाईज स्वीपिंग का शुभारंभ करेंगे नगरघड़ी शहर की शोभा बढ़ाएगी साथ में लोगों को समय की जानकारी भी मिलेगी। मैकेनाईज सफाई से शहर की सफाई व्यवस्था मे।

error: Content is protected !!