राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका पर शिक्षकों को गर्व होना चाहिए : डॉ. रमन सिंह

०० मुख्यमंत्री ने शिक्षक दिवस पर दी शुभकामनाएं

रायपुर| छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि शिक्षकों पर पीढ़ियों के साथ-साथ राष्ट्र निर्माण में शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। उन्हें अपनी इस भूमिका पर गर्व होना चाहिए। डॉ. सिंह ने कल पांच सितम्बर को पूर्व राष्ट्रपति स्वर्गीय डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती ‘ शिक्षक दिवस’ के अवसर पर शिक्षकों सहित आम जनता को भी हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर आज यहां जारी शुभकामना संदेश में कहा है कि स्वर्गीय डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन एक महान चिंतक, दार्शनिक, लेखक और आदर्श शिक्षक भी थे, जिन्होंने अपने चिंतन और लेखन के जरिये देश और दुनिया को हमेशा सही रास्ते पर चलने की शिक्षा दी।
मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि शिक्षक दिवस हमें एक ओर जहां स्वर्गीय डॉ. राधाकृष्णन के महान व्यक्तित्व और कृतित्व की याद दिलाता है, वहीं यह दिवस राष्ट्र और समाज के निर्माण में शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका को भी रेखांकित करता है। डॉ. रमन सिंह ने कहा – किसी भी बच्चे के घर-परिवार के बाद उसके भविष्य निर्माण में शिक्षकों का बहुत बड़ा योगदान होता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षकों पर पीढ़ियों के निर्माण की जिम्मेदारी होती है।  शिक्षकों की इस मूल्यवान भूमिका की वजह से हमारे भारतीय समाज में प्राचीन काल से ही उन्हें अत्यंत सम्मानजनक स्थान मिलता रहा है। डॉ. सिंह ने कहा कि  शिक्षकों को अपनी इस भूमिका पर गर्व होना चाहिए और उन्हें अपनी कक्षाओं के सभी बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के निर्माण के लिए समर्पित होकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते रहना चाहिए। मुख्यमंत्री ने शिक्षक दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय पुरस्कारों से सम्मानित होने वाले सभी शिक्षकों को बधाई और शुभकामनाएं दी है।     

 

error: Content is protected !!