गुरु बालकदास जी ने सतनाम पंथ चलाकर भेद भाव को किया दूर : अमरजीत चावला

०० ग्राम भलेसर में सतनामी युवा संघठन एवँ ग्रामवासियो द्वारा मनाया गया राजा गुरु बालकदास जी की जयंती व कृष्ण जन्माष्टमी

०० कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए जिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष अमरजीत चावला

रायपुर| महासमुंद विधानसभा क्षेत्र के ग्राम भलेसर में राजा गुरु बालकदास जी की जयंती व कृष्ण जन्माष्टमी स्थानीय सतनामी युवा संघठन एवँ ग्रामवासियो द्वारा मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्यातिथि जिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष अमरजीत चावला थे अध्यक्षता जिला पंचायत सदस्य गोविंद साहू ने की विशेष अतिथि के रूप में स्थानीय जनपद सदस्य किशन देवांगन और युवा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अमन चंन्द्रकार थे। सर्व प्रथम ग्राम आगमन पर समाज के लोगो व अमरजीत चावला एवं अतिथियों ने गुरु घासीदास जी के मंदिर में बालकदास जी के तैल चित्र का पूजा अर्चना कर माल्यार्पण कर आरती की तथा श्रीफल अर्पण किया। 

कार्यक्रम स्थल पर जन्माष्टमी  के अवसर पर दही लूट एवं मटका फोड़ कार्यक्रम का लुत्फ उठाया तथा गुरु बालक दास जी की 217 जयंती के अवसर पर आयोजित सांस्कृतिक आयोजन में भी भाग लिया उक्त अवसर पर मुख्यातिथि *अमरजीत चावला ने ग्रामवासियो को गुरु बालकदास जी की जयंती व कृष्ण जमाष्टमी की बधाई दी और राजा गुरु बालकदास जी के महिमा का बखान करते हुए कहा की कि 18वीं सदी में छत्तीसगढ़ नस्लभेद और रंगभेद से भी ज्यादा जाति भेद से जूझ रहा था, रूढ़ीवादी और वैमनस्यता अपनी अपनी चरम सीमा पर थे।तब गुरु बालक दास ने सतनाम पंथ चलाकर जाति व्यवस्था को खत्म करने पर जोर दिया और परम पूज्य गुरु घासीदास बाबा के मनखे मनखे एक समान की भावना का प्रचार किया। चावला ने उपस्थित  जनसमूह से नशा आदि व्यसनों से दूर रहने और बच्चों को शिक्षित बनाने का आव्हान भी किया तथा छत्तीसगढ़ प्रदेश की तरक्की में हमेशा अपना अग्रणी योगदान देने के लिए तत्पर रहने का निवेदन भी किया कार्यक्रम को गोविंद साहू अमन चंद्राकर किशन देवआँगन ने भी संबोधित किया और ग्राम वाशियो को जन्माष्टमी तथा गुरु जयंती की बधाई देते हुवे उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाये दी,कार्यक्रम  का आयोजन सतनाम युवा संगठन के द्वारा किया गया था ,उक्त कार्यक्रम में प्रमुख रूप से सेवाराम कुर्रे सुरेश कुर्रे चिंताराम ओगरे नरेश निराला झिंतुराम ओगरे पित्तु राम कुर्रे सहदेव ओगरे  चमन कुर्रे किशन ओगरे कमल ओगरे जगदीश मारकंडे,कमल महिलांग,अजय चतुर्वेदी,पंकज,गायकवाड़ सहित सेकड़ो ग्रामवशी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!