डिजिटल भारत के सपने का साकार करेगी इंडिया पोस्ट पेमेन्ट्स बैंक परियोजना : सुंदरानी

०० राजधानी में रायपुर संभाग के 5 जिलों में बैंक शाखाओं सहित 20 सेवाकेन्द्रों का एक साथ हुआ शुभारंभ

०० सभी इंडिया पोस्ट पेमेन्ट्स बैंक शाखाएं होंगी पेपरलेस: आधार कार्डों से मिनटों में खुलेंगे खाते

रायपुर| दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकों की वित्तीय सेवाओं की आसान पहुंच के लिए छत्तीसगढ़ के सभी 27 जिलों में भी आज भारतीय डाक भुगतान बैंक (इंडिया पोस्ट पेमेन्टस बैंक) की शाखाओं और 113 सेवा केन्द्रों का एक साथ शुभारंभ हुआ। राजधानी रायपुर के साइंस कॉलेज परिसर स्थित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में आयोजित समारोह में विधायक श्री श्रीचंद सुंदरानी ने रायपुर संभाग के सभी 5 जिला मुख्यालयों-रायपुर, महासमुंद, गरियाबंद, धमतरी और बलौदाबाजार-भाटापारा के लिए पांच शाखाओं सहित 20 सेवा केन्द्रों का दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया। उन्होंने समारोह में इंडिया पोस्ट पेमेन्टस बैंक की शुरूआत पर डाक विभाग की ओर से विशेष आवरण भी जारी किया।
सुंदरानी ने कहा कि इंडिया पोस्ट पेमेन्टस बैंक की यह परियोजना पूरे देश में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के डिजीटल भारत के सपने को साकार करने में मददगार साबित होगी। इस अवसर पर डाक विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि इंडिया पोस्ट पेमेन्टस बैंक पेपरलेस होंगे, जहां नागरिक अपने आधार कार्डों का इस्तेमाल करते हुए मिनटों में खाते खुलवा सकेंगे। खातेधारकों को क्यूआर कार्ड और बायोमैट्रिक प्रमाणीकरण के जरिए डिजीटल भुगतान की भी सुविधा मिलेगी। इस अवसर पर भारतीय डाक सेवा के छत्तीसगढ़ परिमण्डल के निदेशक श्री गजभिये सहित संभागीय प्रवर अधीक्षक डॉ. आशीष सिंह ठाकुर और अन्य वरिष्ठ अधिकारी और कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे। मुख्य अतिथि की आसंदी से समारोह को संबोधित करते हुए श्री सुंदरानी ने कहा-यह खुशी की बात है आज प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी पूरे देश के लिए राष्ट्रीय स्तर पर 630 इंडिया पोस्ट पेमेन्टस बैंकों का डिजीटल शुभारंभ कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ के सभी 27 जिला मुख्यालयों में इन शाखाओं की शुरूआत होने पर राज्य के कोने-कोने तक बैंकिंग नेटवर्क का विस्तार होगा। भारतीय डाक विभाग और केन्द्रीय संचार मंत्रालय द्वारा इस परियोजना के जरिए इंटरनेट बैंकिंग को बढ़ावा दिया जाएगा। इस अवसर पर डाक विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि देश के सभी एक लाख 30 हजार ग्रामीण डाकघरों में वर्ष 2018 के अन्त तक इंडिया पोस्ट पेमेन्टस बैंक के सेवा केन्द्र खोलने का लक्ष्य है। इन डाकघरों की संख्या वर्तमान स्थिति में ग्रामीण भारत में मौजूद कुल बैंक शाखाओं की संख्या का लगभग ढाई गुना है। अधिकारियों ने बताया कि पूरे देश में तीन लाख से अधिक पोस्टमैन और ग्रामीण डाक सेवकों का विशाल कार्यबल है, जो ग्रामीण, शहरी और देश के दूरदराज अंचल तक लोगों को द्वार पर बैंकिंग की सुविधाएं पहुंचाने में सहायक होगा। डाक विभाग के अधिकारियों ने समारोह में बताया कि इंडिया पोस्ट पेमेन्ट्स बैंक अपने ग्राहकों को अनेक तरह की सेवाएं प्रदान करेगी। इसमें बचत तथा चालू खाते, प्रेषण, धन अन्तरण, प्रत्यक्ष लाभान्तरण, बिल तथा जनोपयोगी अन्य भुगतान और उद्यम तथा व्यापार संबंधी भुगतान शामिल है। इसके तहत काउंटर सेवाएं, माइक्रो एटीएम, मोबाइल बैंकिंग एप्प, एसएमएस और आईबीआर जैसे सेवाओं का लाभ भी मिलेगा। इंडिया पोस्ट पेमेन्ट्स बैंक का क्यूआर कार्ड होने से ग्राहकों को अपना खाता संख्या और पिन याद रखने की जरूरत नहीं होगी। इसके तहत ग्राहक नगदी का प्रयोग किए बिना लेनदेन कर सकेंगे।

 

error: Content is protected !!