नक्सलीयो के ट्रेंनिग कैंप को पुलिस जवानों ने किया ध्वस्त

०० सुरक्षा बल के जवानों और नक्सलियों के बीच हुई दो अलग-अलग जगहों पर मुठभेड़

रायपुर| बीजापुर में सुरक्षा बल के जवानों और नक्सलियों के बीच दो थाना क्षेत्रों अलग-अलग मुठभेड़ हुई है, बुधवार की शाम को दोनों मुठभेड़ लगभग एक ही समय पर हुई है, एक मुठभेड़ गंगालुर थाना क्षेत्र के तेद्दापाल के पहाड़ी जंगल में हुई, यहां नक्सली ट्रेनिंग कैम्प चला रहे थे| सुरक्षा बल के जवानों ने नक्सलियों के ट्रेनिंग कैम्प को ध्वस्त कर दिया है, हालांकि मौके से नक्सली फरार होने में सफल हो गए| दूसरी मुठभेड़ मिरतुर थाना क्षेत्र के बेच्चापाल के जंगलों में हुई है. यहां नक्सली कैम्प को सुरक्षा बल के जवानों ने ध्वस्त किया. बीजापुर एसपी मोहित गर्ग ने घटना की पुष्टि की है| 

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक नक्सलियों के गंगालुर डिविजनल कमांडर विज्जा की मौजूदगी में तेद्दापाल के पहाड़ी के जंगलों में ट्रेनिंग कैम्प का संचालन किया जा रहा था. सूचना पर जिला पुलिस व एसटीएफ के करीब दो सौ जवान वहां के लिए निकले. नक्सलियों के कैम्प स्थल से करीब 3 किलोमीटर दूर से ही नक्सलियों को जवानों के पहुंचने की आहट हुई और उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी. इसके बाद जवानों की ओर से भी जवाबी कार्रवाई की गई. इस मुठभेड़ में जवानों की ओर से 32 राउंड फायरिंग की गई है. जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली फरार हो गए, लेकिन जवानों ने उनके ट्रेनिंग कैम्प को ध्वस्त कर दिया| बीते बुधवार की शाम को ही दूसरी मुठभेड़ मिरतुर थाना क्षेत्र के बेच्चापाल के जंगलों में हुई. यहां नक्सलियों के कैम्प को जवानों ने ध्वस्त किया. मिली जानकारी के मुताबिक यहां करीब 20 नक्सली कैम्प लगाकर रुके थे. मुठभेड़ के स्थान पर खूने के धब्बे सुरक्षा बल के जवानों को दिखे. इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि कुछ नक्सली बुरी तरह जख्मी भी हुए हैं. इस क्षेत्र में सुरक्षा बल के जवानों ने सर्चिंग तेज कर दी है|

error: Content is protected !!