जनता की सेवा करने नौकरी छोड़ राजनीती में आया : ओपी चौधरी

०० भाजपा में बिना चापलूसी योग्यता को मिलता है महत्व : चौधरी

रायपुर। रायपुर कलेक्टर ओपी चौधरी नौकर शाह से इस्तीफा देकर दिल्ली मे भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के समक्ष भाजपा की सदस्यता ग्रहण की| गुरूवार को दिल्ली से रायपुर पहुचने पर माना विमानतल पर भाजपा कार्यकर्ताओ ने भव्य स्वागत किया, माना विमानतल से भाजपा कार्यकर्ताओ ने रैली निकाली जो एकात्म परिसर भाजपा कार्यालय मे समाप्त हुई इस दौरान जगह-जगह ओपी चौधरी का पुष्प हार से स्वागत हुआ जिससे हजारों की संख्या मे भीड़ थी।

एकात्म परिसर में ओपी चौधरी ने पत्रकार वार्ता में कहा कि मैने कोशिश किया कि समाज के लिए कुछ सकारात्मक कार्य करू, मै बायंग गांव जिला रायगढ़ का निवासी हूॅ। पिता जी के देहावसान के बाद मुझे अनेक कार्यो से कलेक्टरेट जाना पडता था। वहां कलेक्टर की भूमिका को देखा और पाया कि कलेक्टर का हर आदेश शीघ्र ही पूरा होता था, तभी से मेरे मन मे कलेक्टर बनने और जनसेवा के कार्य की प्रेरणा मिली और मै पढ़ाई के लिए रायपुर आकर ग्रेजुएट के बाद आईएएस की परीक्षा दी जिसमें सफल हुआ और छत्तीसगढ़ का पहला आईएएस बना,कलेक्टर भी बना कलेक्टर के रूप में कोरबा, दन्तेवाड़ा और रायपुर का कलेक्टर बना इसके पहले मुख्य कार्यपालक अधिकारी सीईओ, डीपीआर का दायित्व भी मिला। रायपुर मे 3 वर्ष तक कलेक्टर रहा इस दौरान रायपुर मे जो करना चाहता था किया। अपने 13 वर्ष के कार्यकाल मे जो चाहा किया। इसके बाद मुझे मंत्रालय मे जाना पड़ता जहां से जमीन से जुड़े लोगों की सेवा नही कर सकता था क्योकि वहां का कार्य कार्यायल तक सिमट जाता है। इसलिए मैने आईएएस की नौकरी छोड़ राजनीति के क्षेत्र मे आया। राजनीति एक चुनौती पूर्ण कार्य है इसके लिए जनता ही सोच के अनुसार कार्य करना पड़ता है मैने देखा डा.रमन सिंह के नेतृत्व में शोषण का बड़ा पर्याय नमक था पीडीएफ व्यवस्था के तहत बस्तर मे चल रहे शोषण को समाप्त किया और नमक की पूर्ति की उनका यह कार्य अन्तोंदय की भावना से था। उन्होंने कहा कि राजनैतिक तंत्र अच्छा हो तो सैकड़ो अच्छे प्रशाासक बनाएं जा सकते है।  पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि कलेक्टर पद से इस्तीफा देने के पहले मैंने महीनों तक राजनीति में प्रवेश के लिए मंथन किया था। इसके बाद इस्तीफा देकर राजनीति में आने का फैसला लिया। राजनीति में आकर मैं अब आदिवासियों, दलितों, गरीबों के लिए काम करना चाहता हूं। ओपी ने कहा कि मैं व्यक्तिगत रूप से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के विचारों और कार्यों से काफी प्रभावित रहा हूं। चौधरी ने कहा कि देश में इस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बेहतर काम चल रहा है। देश तरक्की की राह पर लगातार आगे बढ़ रहा है। छत्तीसगढ़ में 13 वर्षों की शासकीय सेवा के दौरान मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के नेतृत्व में सरकार और भाजपा का काम करीब से देखने का अवसर मिला है। इस कामकाज से प्रभावित होकर जनसेवा करने के इरादे से मैंने राजनीति में प्रवेश किया है। बस्तर में काम करते हुए मैंने आदिवासी जनजीवन के निकटता के साथ देखा है। इसी तरह अन्य क्षेत्रों में भी गरीब खासकर अंतिम पंक्ति के लोगों के लिए काम करने की इच्छा मुझे राजनीति में ले आई है।

 

error: Content is protected !!