सरकारी नौकरी करते हुए भाजपा के एजेंट थे चौधरी : लखमा

रायपुर। छत्तीसगढ़ के आईएएस अफसर व रायपुर के पूर्व कलेक्टर रहे ओपी चौधरी के भाजपा की सदस्यता ग्रहण करते ही विपक्ष का वार शुरु हो गया है। कांग्रेस के विधायक कवासी लखमा ने कहा कि ओपी चौधरी सरकारी नौकरी में होते हुए भी विकास यात्रा के दौरान बीजेपी के एजेंट के रूप में काम करते नजर आते थे, वो भाजपा का झंडा बैनर भी बांधते थे। अब उन्होंने भाजपा जॉइन कर लिया है तो यह साबित हो गया है कि वो भाजपा के लिए ही काम कर रहे थे। अब तक चौधरी एसी चेम्बर में बैठकर काम करते थे, अब उन्हें नागपुर से आरएसएस का डंडा पड़ेगा।

लखमा ने आरोप लगाया कि प्रदेश में कई और कलेक्टर भाजपा के एजेंट की तरह काम कर रहे हैं।
तो वहीं भाजपा चौधरी का जगह-जगह स्वागत कर रही है। इस पर प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि ओपी ने पार्टी ज्वाइन कर अच्छा फैसला लिया है। पार्टी उसका बेहतर उपयोग करेगी।
नेताप्रतिपक्ष ने कहा मेरा मानना है कि, ये देखने को मिल रहा है कि राजनैतिक दलों का दखल जिन क्षेत्रों में नहीं होता था, वहां बढ़ रहा है। आज जो एक कलेक्टर चुनाव लड़ रहा है, वो पहले दल से प्रभावित रहा होगा, तभी तो इतनी जल्दी एंट्री मिली है। नेता विपक्ष ने कहा कि पहले भी ऐसा होता रहा है, लेकिन अब स्थिति बदल रही है। जिस तरह से संवैधानिक संस्थाओं में राजनैतिक दलों का दखल बढ़ा है, वो ठीक नहीं है। इसलिए इतने सवाल खड़े हो रहे हैं। वहीं रायपुर की पूर्व महापौर डॉ. किरणमयी नायक ने कहा चौधरी एक योग्य व्यक्ति हैं, जिनका भाजपा में प्रवेश हुआ है, लेकिन उन्हें ब्रांड रुप में प्रायोजित कर लाया गया है। वे कहीं से भी चुनाव लड़े जीत कांग्रेस की ही होगी।

error: Content is protected !!