प्रधानमंत्री मोदी व शाह ने 15 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ शुरू की भाजपा की “महाबैठक”

०० बैठक में सामान्य रणनीति के अलावा विभिन्न केंद्रीय योजनाओं के क्रियान्वयन और 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों के संबंध में चर्चा होने की है संभावना

रायपुर/ नई दिल्ली। भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के परिषद की एक दिवसीय बैठक मंगलवार को शुरू हो गई। बैठक में 2019 में सत्ता दोबारा हासिल करने के लक्ष्य के तहत पार्टी केंद्र की कल्याणकारी योजनाओं को लाभार्थियों तक पहुंचने की योजना पर चर्चा करेगी। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने उद्घाटन भाषण दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बैठक में भाग ले रहे हैं। देश में भाजपा के 15 मुख्यमंत्री व सात उप मुख्यमंत्री हैं। इसमें उत्तर प्रदेश में दो और गुजरात, बिहार, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश व त्रिपुरा, प्रत्येक में एक-एक उप मुख्यमंत्री हैं। मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से 2014 से परिषद की बैठक हर साल हो रही है।

भाजपा के सूत्रों के अनुसार बैठक में सामान्य रणनीति के अलावा विभिन्न केंद्रीय योजनाओं के क्रियान्वयन और 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों के संबंध में चर्चा होने की संभावना है। मोदी के सत्ता में आने के बाद 2014 से मुख्यमंत्रियों की वार्षिक बैठक की यह परंपरा चल रही है। यह बैठक सुबह 10 बजे से शुरू हो सकती है। शाह बैठक में उद्घाटन भाषण देंगे, जबकि प्रधानमंत्री समापन सत्र को संबोधित करेंगे। दरअसल, साल के अंत में मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव और अगले साल होने वाले आम चुनाव को लेकर भाजपा पूरी तरह से कमर कस चुकी है। अब चूंकि भाजपा पूरी तरह से चुनावी मूड़ में आ चुकी है, तो वह पार्टी विपक्ष के महागठबंधन की तैयारी को देखते हुए अपनी रणनीति में कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखना चाहती है। यही कारण है कि पार्टी आलाकमान ने मंगलवार को दिल्ली में एक बड़ी और अहम बैठक बुलाई है।

error: Content is protected !!