अटल जी का अपमान करने वाले दोनों मंत्रियों को तत्काल हटाए भाजपा : करुणा शुक्ला

०० सच में श्रद्धा होती तो शोक के वातावरण में ऐसा आचरण नहीं किया होता

०० चुनाव के लिए अटल जी की मृत्यु को भी राजनीतिक हथियार बनाना गलत : कांग्रेस

०० जिस छत्तीसगढ़ का सपना अटल जी ने देखा था, रमन का छत्तीसगढ़ उससे कोसों दूर

रायपुर| पूर्व सांसद एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता करुणा शुक्ला ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी जी के निधन से पूरे देश की जनता को दुख पहुंचा है. लेकिन ऐसा लगता नहीं कि भाजपा को रत्ती भर भी दुख हुआ है। ऐसा लगता है कि भाजपा एक तरह से ख़ुश है कि तीन राज्यों में चुनाव से ठीक पहले अटल जी चले गए क्योंकि इससे अपने कुकर्मों से डूब रही भाजपा सरकारों को अटल जी का सहारा मिल जाएगा| अस्थि कलश लेकर घूम रही भाजपा अटल जी के निधन पर क्या भावना रखती है यह तस्वीरों और वीडियो से ज़ाहिर हो गया है।

राजीव भवन में पत्रकारवार्ता को सम्भोधित करते हुए करुणा शुक्ला व कांग्रेस नेताओ ने कहा कि अटल जी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे रमन सिंह के दो चहेते मंत्री निर्लज्जता से खिलखिलाते हुए दिख रहे हैं. वे चुटकुलेबाज़ी कर रहे हैं और ठहाके लगा रहे हैं। इनमें से एक मंत्री को तो दोगुना दुखी होना चाहिए था क्योंकि वे स्वास्थ्य विभाग देख रहे हैं और प्रदेश में इस वक़्त डेंगू की महामारी फैली हुई है, लेकिन उन्हें न लाज है न शर्म, दुख तो दूर की बात है, और हंसते मुस्कुराते भाजपा नेताओं की यह अकेली तस्वीर नहीं है। कांग्रेस नेताओ ने कहा कि ख़ुद मुख्यमंत्री रमन सिंह शोक सभा में मुस्कुराते हैं, उनके ख़ास मंत्री राजेश मूणत मुस्कुराते हैं और भाजपा के छुटभैये नेताओं की तो अनगिनत तस्वीरें सोशल मीडिया पर घूम रही हैं। यह भारत रत्न और कालजयी नेता अटल बिहारी वाजपेयी का दोबारा किया जा रहा अपमान है। पहले तो दस साल भाजपा ने उन्हें दृश्यपटल से हटाकर उनका अपमान किया और अब मृत्यु के बाद उनका अपमान कर रहे हैं। कांग्रेस नेताओ ने कहा कि जनता देख रही है कि अटल जी की अस्थियां घुमा रही भाजपा के नेता किस तरह से एक महान नेता का अपमान कर रही है। अख़बारों में ख़बर छपवाने से काम नहीं चलने वाला कि मुख्यमंत्री नाराज़ हैं, भाजपा अध्यक्ष दुखी हैं। अगर जनता को विश्वास दिलाना है कि भाजपा सचमुच अटल जी का सम्मान करती है तो उनका अपमान करने वाले दोनों मंत्रियों को तत्काल मंत्रिमंडल से हटाया जाना चाहिए। अगर रमन सिंह में यह ताक़त और हिम्मत नहीं है तो संवेदनशील होने का नाटक करने और बात बेबात रोने वाले वाले नरेंद्र मोदी को चाहिए कि वे दोनों मंत्रियों को हटाएं। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी नोटिस और चेतावनी देकर बरी नहीं हो सकते। यह एक राष्ट्र पुरुष का अपमान है और जनता के दिल को दुखाने वाली घटना है. अगर इन मंत्रियों को सज़ा नहीं दी गई तो राष्ट्र भाजपा को कभी माफ़ नहीं करेगा। पत्रकारवार्ता में पूर्व सांसद एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता करुणा शुक्ला, विधानसभा उपनेता प्रतिपक्ष कवासी लखमा, पूर्व महापौर किरणमयी नायक, संचार विभाग के सदस्य आर.पी. सिंह, प्रदेश प्रवक्तागण घनश्याम राजू तिवारी, मोहम्मद असलम, एम.ए. इकबाल, धनंजय सिंह ठाकुर उपस्थित थे।

 

यह अटल जी के सपनों का छत्तीसगढ़ तो नहीं है :- कांग्रेस नेतो ने कहा कि अटल जी ने छत्तीसगढ़ राज्य बनाना इसलिए स्वीकार किया क्योंकि वे इसके पिछड़ेपन से दुखी थे। उनका सपना एक समृद्ध छत्तीसगढ़ का था जिसमें ग़रीब, आदिवासी और किसान समृद्ध हों लेकिन रमन सिंह ने पिछले 15 बरसों में उस सपने को चकनाचूर कर दिया। आज छत्तीसगढ़ सबसे ग़रीब राज्य है, सबसे अधिक झुग्गी झोपड़ियां हैं और किसान आत्महत्याएं कर रहे हैं। आदिवासियों को उजाड़ा जा रहा है और समृद्ध मुट्ठी भर लोग हुए हैं।  भाजपा के नेताओं के पास अथाह धन दौलत आ गई है और जनता त्रस्त है. यह अटल जी के सपनों का छत्तीसगढ़ तो हरगिज़ नहीं है।

 

error: Content is protected !!