स्कूली शिक्षा में गुणवत्ता बढ़ाने के लिए एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित

रायपुर| स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा नया रायपुर स्थित राज्य शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) के कार्यालय में एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के विभिन्न उपायों पर विचार मंथन हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव श्री गौरव द्विवेदी ने की। उन्होंने कहा – राज्य में स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए तकनीक एक मुख्य संसाधन है जिसका उपयोग राज्य के शिक्षकों और शिक्षक प्रशिक्षकों की क्षमता तथा शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए किया जाना जरूरी है। श्री द्विवेदी ने कहा कि ’दीक्षा पोर्टल’ एक प्रमुख उपकरण के रूप में कारगर सिद्ध हो सकता है।
कार्यशाला में एस.सी.ई.आर.टी. के संचालक श्री सुधीर अग्रवाल और संचालक लोक शिक्षण श्री एस. प्रकाश सहित सर्व शिक्षा अभियान और चिप्स के अधिकारी मौजूद थे। नई दिल्ली से स्त्रोत व्यक्ति के रूप में आमंत्रित सुश्री साक्षी मोंगा तथा श्री प्रांजल जैन ने दीक्षा पोर्टल के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। उन्होंने जानकारी दी कि दीक्षा का पूरा नाम ‘डिजीटल इन्फ्रास्ट्रक्चर आॅन नालेज शेयरिंग’ है। इसके यह बताया गया है कि कक्षाओं में पढ़ाई को अधिक कारगर बनाने और शिक्षक तथा विद्यार्थियों में सीखने में मदद कैसे की जा सकती है। कक्षा में शैक्षणिक वातावरण के निर्माण के लिए पाठ्य पुस्तकों के अतिरिक्त अन्य अधिगम सामग्री का एक व्यापक ज्ञानकोष कैसे प्राप्त हो सकता है। इसी उद्देश्य से डी.ओ.एस.ई.टी, एम.एच.आर.डी., जी.ओ.आई और राष्ट्रीय अध्यापक परिषद के द्वारा शिक्षकों के लिए एक राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी प्लेटफार्म दीक्षा पोर्टल लांच किया गया है। उन्होंने प्रतिभागियों के विभिन्न प्रश्नों का समाधान भी किया।  कार्यशाला में बताया गया कि राज्य में इस वर्ष सितम्बर-अक्टूबर 2018 तक दीक्षा पोर्टल लांच कर दिया जाएगा। इसके लिए प्रचलित पाठ्य पुस्तकों को इंनरजेट टैक्सट् बुक के रूप में विकसित किया जा रहा है। इन विकसित पाठ्य पुस्तक मंे क्यू आर कोड की सहायता से शिक्षकों और विद्यार्थियों की कठिन अवधारणों से संबंधित अतिरिक्त शिक्षण सामग्री, स्त्रोत सामग्री  और अन्य जानकारी वीडियों, लेख, गतिविधियों आदि के रूप में मोबाईल या कम्प्यूटर पर दीक्षा एप डाउनलोड कर प्राप्त की जा सकेगी। 

 

error: Content is protected !!