राज्य में प्लाईवुड उद्योग की सम्भावनाओं पर हुआ विचार, मुख्य सचिव ने दिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश

रायपुर| राज्य में प्लाईवुड उद्योग की स्थापना की सम्भावनाओं पर विचार-विमर्श करने, मुख्य सचिव श्री अजय सिंह की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में बैठक का आयोजन किया गया। राज्य में प्लाईवुड उद्योग की स्थापना के लिए जरूरी कच्चा माल, उद्योग से होने वाले प्रदूषण, उद्योग में बिजली की खपत, उद्योग से मिलने वाले रोजगार, उत्पादन की नियमितता एवं अन्य तकनीकी विषयों पर विस्तार से चर्चा की गयी।

बैठक मंे उद्योग विभाग द्वारा राज्य की उद्योग नीति 2014-19 में किये गये प्रावधानों और उद्योग की स्थापना के लिए शासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं के विषय में विस्तार से जानकारी दी गयी। बैठक में शामिल हुए विभिन्न प्लाईवुड निर्माताओं ने राज्य में प्लाईवुड के निर्माण के संबंध में अपने विचार रखें। मुख्य सचिव ने वन विभाग-उद्योग विभाग-कृषि विभाग को संयुक्त रूप से विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए है। योजना के आधार पर राज्य के उपयुक्त स्थानों में प्लाईवुड उद्योगों की स्थापना किए जाएंगे। बैठक में वन विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री सी.के. खेतान, सचिव उद्योग विभाग डॉ. कमलप्रीत सिंह, सचिव वन विभाग श्री अतुल शुक्ला, प्रबंध संचालक राज्य अधोसंरचना श्री सुनील मिश्रा, मुख्य वन संरक्षक श्री आर.के. सिंह सहित कलकत्ता, बैंगलोर, मुम्बई, हरियाणा, रायपुर, राजनांदगांव से आये प्लाईवुड निर्माण कम्पनियों के प्रतिनिधि और विभागीय वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!