मनरेगा की मजदूरी राशि खाते में ऑनलाइन जमा होने के बाद मुनादी के जरिए भी श्रमिकों को दी जाए जानकारी, मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश

०० जनसंवाद कॉलसेंटर के जरिए अब तक 7.90 लाख हितग्राहियों से की गई सीधी बात

०० शिविर लगाकर समस्या वाले गांवों में सुनिश्चित करें योजनाओं की प्रगति

रायपुर| राज्य शासन द्वारा आम जनता से विभिन्न योजनाओं का फीडबैक लेने के लिए संचालित जनसंवाद कॉल सेंटर की स्थापना के एक साल से भी कम समय में (लगभग 11 महीने में) अधिकारियों द्वारा अब तक सात लाख 90 हजार लोगों से सीधी बात की जा चुकी है। यह जानकारी मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में आयोजित जनसंवाद परियोजना की समीक्षा बैठक में दी गई ।
डॉ. सिंह ने बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बिलासपुर और सरगुजा राजस्व संभागों के जिला कलेक्टरों से बातचीत कर जनसंवाद कॉलसेंटर के काम-काज का जायजा लिया। मुख्यमंत्री ने कहा-यह एक उपयोगी कॉल सेंटर है। इसके जरिए सरकार को स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति, मुख्यालयों में पटवारी की उपस्थिति, उचित मूल्य की दुकानों और आंगनबाड़ी केन्द्रों के समय पर खुलने जैसी मैदानी स्तर की महत्वपूर्ण जानकारियां मिल रही हैं। सभी जिला कलेक्टर इस जानकारी का उपयोग कर संबंधित क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दें और योजनाओं की प्रगति सुनिश्चित करें। नागरिकों से सीधे संवाद के लिए जनसंवाद परियोजना का शुभारंभ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पिछले वर्ष 18 सितम्बर को किया था। इस परियोजना के तहत नया रायपुर स्थित मंत्रालय (महानदी भवन) के पास यूटिलिटी भवन में आधुनिक कॉल सेंटर का संचालन किया जा रहा है। बैठक में सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह ने बताया कि जनसंवाद कॉलसेंटर से प्रदेश के सभी जिलों के कुल कुल सात लाख 90 हजार लोगों से लगभग बीस मिनट बात करके उनसे विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन पर फीडबैक लिया गया। इसकी जानकारी जिला कलेक्टरों को भी भेजी गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि किसी क्षेत्रों में योजना की प्रगति को बढ़ाने की जरूरत है, तो कलेक्टर वहां व्यक्तिगत रूचि लेकर प्रगति सुनिश्चित करें। प्रशासन को गतिशील बनाने में और योजनाओं के क्रियान्वयन को और बेहतर करने में योजना के लाभार्थियों की प्रतिक्रियाएं काफी उपयोगी साबित होंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) में मजदूरी की राशि संबंधित व्यक्ति के खाते में ऑनलाइन जमा होेने के बाद कई बार श्रमिकों को इसकी जानकारी नहीं हो पाती। ऐसे में संबंधित मजदूरों को खाते में राशि आने की जानकारी देने के लिए गांवों में मुनादी करवाई जानी चाहिए और ग्राम पंचायतों के सूचना पटल पर भी जानकारी प्रदर्शित की जानी चाहिए। डॉ. सिंह ने कलेक्टरों से कहा कि जिले के जिस क्षेत्र के गांवों के समूह में किसी भी योजना-विशेष की प्रगति यदि कम है, तो वहां अधिकारियों को भेजकर शिविर लगाए जाएं और समस्याओं का समाधान कर यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी पात्र हितग्राहियों को योजना का लाभ मिले।डॉ. रमन सिंह ने कलेक्टरों को यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के सभी लोगों को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस कनेक्शन दिया जाए। उन्होंने पड़ोसी राज्यों के सीमावर्ती जिलों में अवैध शराब की बिक्री पर अंकुश लगाने के लिए कठोर कार्रवाई के निर्देश कलेक्टरों को दिए। बैठक में बिलासपुर संभाग के बिलासपुर, कोरबा, जांजगीर-चांपा, रायगढ़ और मुंगेली जिले, सरगुजा संभाग के सरगुजा, कोरिया, बलरामपुर, जशपुर और सूरजपुर जिलों में संचार क्रांति योजना, अधोसंरचना के कार्यों, आबादी पट्टा वितरण, प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना, मनरेगा के मजदूरी भुगतान, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, मुख्यमंत्री पेंशन योजना, गांवों में बिजली बिल तथा विद्युत संबंधी विभिन्न आवेदनों और तेन्दूपत्ता वितरण, आबादी पट्टा वितरण की समीक्षा की गई। मुख्य सचिव श्री अजय सिंह, वन विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री सी.के खेतान, कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री सुनील कुजूर, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री आर.पी.मंडल, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह, खाद्य विभाग की प्रमुख सचिव श्रीमती ऋचा शर्मा, खनिज साधन विभाग के सचिव श्री सुबोध कुमार सिंह, स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह, श्रम विभाग की सचिव श्रीमती आर. शंगीता, स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव श्री गौरव द्विवेदी, ऊर्जा विभाग के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी, आवास और पर्यावरण विभाग के सचिव श्री संजय शुक्ला, वाणिज्यिक कर विभाग के सचिव श्री डी.डी. सिंह, समाज कल्याण विभाग के विशेष सचिव श्री आर. प्रसन्ना, एनआरडीए के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री रजत कुमार तथा संबंधित विभागों के अन्य अनेक वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!