मुख्यमंत्री ने दुर्ग जिले में संचार क्रांति योजना का किया शुभारंभ

०० मुख्यमंत्री ने 11 हितग्राहियों को किया मोबाईल फोन का वितरण

०० शहरी क्षेत्रों के 76 हजार 86 हितग्राही होंगे लाभान्वित, थर्ड जेण्डर को भी मिलेगा मोबाईल फोन

रायपुर/दुर्ग| मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज जिले में संचार क्रांति (स्काई) योजना का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने जिला मुख्यालय दुर्ग के रविशंकर स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में योजना का शुभारंभ करते हुए 11 हितग्राहियों को अपने करकमलों से मोबाईल फोन का वितरण किया। मुख्यमंत्री के हाथों गरिमामयी कार्यक्रम में मोबाईल फोन पाकर हितग्राही गदगद हुए। योजना अंतर्गत दुर्ग जिले के शहरी क्षेत्रों के 76 हजार 86 हितग्राही लाभान्वित होंगे।


मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने जिले में संचार क्रांति योजना के शुभारंभ समारोह में उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए कहा कि दुर्ग संभाग में संचार क्रांति योजना का शुभारंभ हो जाने से अब संभाग के 11 लाख 3 हजार 160 बहनों के हाथों में मोबाईल फोन आ जाएगा। उन्होंने कहा कि तीज-त्यौहार में बहनों को उपहार देने की परम्परा होती है। बहनों को तीज के अवसर पर उपहार के रूप में मोबाईल देने का  संकल्प लिया है। अब बहनों के हाथों में स्मार्ट मोबाईल फोन आ जाएगा। आने वाले दो महीने में दुर्ग जिले की पहचान स्मार्ट जिले के रूप में हो जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह केवल मोबाईल मात्र नहीं है, बल्कि यह मोबाईल डेस्कटॉप, लैपटाप की तरह काम करेगा। छत्तीसगढ़ प्रदेश संचार क्रांति की नए युग में प्रवेश करेगा। मोबाईल का उपयोग अनेक सुविधाएं के लिए कर सकेंगे। मोबाईल से घर बैठे ऑनलाईन सेवा का लाभ ले सकते हैं। इसके माध्यम से सिनेमा की टिकिट, रेलवे की टिकिट बुक कराने, बिजली बिल पटाने, पैसा ट्रांजेक्शन करने जैसी सेवा का लाभ ले सकेंगे। उन्होंने कहा कि संचार क्रांति की युग में लाखों बहनों के हाथ में स्मार्ट फोन नहीं होने से वे देश व दुनिया की अनेक घटनाओं और खबरों से दूर रहते थे, अब मोबाईल हाथ में आ जाने से देश और दुनिया से जुड़ने में मददगार साबित होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि थर्ड जेण्डर को समाज की मुख्यधारा में लाने और उनका विकास करने की दिशा में एक अलग प्रवर्ग बनाकर उन्हें भी आने वाला समय में मोबाईल फोन का वितरण किया जाएगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि गांव-गांव में मोबाईल कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए 1600 नए टावर लगाए जा रहे हैं, इससे मोबाईल कनेक्टिविटी 90 प्रतिशत गांव में पहुंच जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि सरकार की नई-नई जन हितकारी योजनाओं के परिणामस्वरूप विकास की कल्पना को धरातल में उतारने का काम हुआ है। अंतिम व्यक्ति तक विकास को पहुंचाने का संकल्प पूरा हो रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार केवल वादा नहीं करती है, बल्कि किए गए वादों को संकल्प के साथ निभाने का काम करती है। उन्होंने कहा कि दुर्ग जिले को कई बड़ी सौगाते मिली है। जिससे दुर्ग जिला विकसित जिला के रूप में स्थापित हुआ है। मुख्यमंत्री ने शासन की अनेक महत्वपूर्ण योजनाओं का रेखांकित करते हुए कहा कि आजादी के 60 साल में जो कार्य नहीं हुए हैं, राज्य सरकार प्राथमिकता से उसे पूरी करा रही है। मुख्यमंत्री ने बताया कि अब किसानों को उनके खेतों में लगाए गए सिंचाई पम्प हेतु फ्लैट रेट पर बिजली बिल देना होगा। इससे लाखों किसानों को फायदा पहुंचेगा। केन्द्र सरकार किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए उनके सम्मान में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी में 200 रूपए की बढ़ोत्तरी की गई है। देश में पहली बार धान का समर्थन मूल्य 200 रूपए बढ़ाया गया है। समारोह को सम्बोधित करते हुए राजस्व मंत्री श्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने कहा कि आज का दिन दुर्ग संभाग के लिए बहुत बड़ा दिन है। संचार क्रांति योजना का शुभारंभ हो जाने से अब संभाग के 11 लाख से अधिक लोगों को मोबाईल कनेक्टिविटी से जुड़ने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि संचार क्रांति के माध्यम से देश व दुनिया से जुड़ने और देश का विकास करने में मदद मिलेगा। उन्होंने स्मार्ट मोबाईल फोन की उपयोगिता बताते हुए संचार की दुनिया में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने का माध्यम बताया। प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता सड़क, बिजली, पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्र में विकास करने के साथ ही लोगों की चेहरे में खुशी लाना और उन्हें आत्म-निर्भर बनाकर, उनका कल्याण करना है। प्रदेश सरकार जनता के साथ कंधा से कंधा मिलाकर काम कर रही है। मुख्यमंत्री जी के कुशल नेतृत्व में प्रदेश का विकास हो रहा है। महिला सशक्तिकरण की दिशा में कार्य किया जा रहा है। आज के समय में मोबाईल फोन की उपयोगिता के आधार पर प्रदेश की महिलाओं को संचार से जोड़ने और देश-दुनिया की खबरों से जोड़ने के लिए योजना मददगार होगी। कलेक्टर श्री उमेश कुमार अग्रवाल ने स्वागत प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि जिले के 2 लाख 41 हजार 534 हितग्राहियों को योजना से लाभान्वित किया जाएगा। नगरीय निकाय क्षेत्र के 76 हजार 86 हितग्राहियों को मोबाईल फोन वितरण किया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्र के 99 हजार 118 एवं महाविद्यालय के 66 हजार 330 छात्र-छात्राओं को लाभान्वित किया जाएगा। कलेक्टर ने मोबाईल फोन वितरण के लिए की गई व्यवस्था की जानकारी दी। कार्यक्रम में लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, संसदीय सचिव श्री लाभचंद बाफना, विधायकगण श्री सांवला राम डाहरे, विद्यारतन भसीन, जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती माया बेलचंदन, महापौर दुर्ग श्रीमती चन्द्रिका चन्द्राकर, भिलाई-चरोदा की महापौर श्रीमती चंद्रकांता माण्डले सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में जनसमूह उपस्थित थे।
मोबाईल मिलने से आजीविका में मिलेगी मदद: अमरिका बाई
मुख्यमंत्री के हाथोें मोबाईल मिलने पर नगर निगम भिलाई अंतर्गत आर्य नगर कोहका निवासी श्रीमती अमरिका बाई देवांगन ने प्रसन्नता व्यक्त की है। उन्होंने मोबाईल मिलने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि मैं सिलाई का काम करती हूं। स्काई योजना से मुझे मोबाईल मिलने से ग्राहकों से सीधे संपर्क करने में सुविधा होगी। मैं ग्राहक के काम को करके मोबाईल के माध्यम से उनको सूचना दे सकूंगी। जिससे मेरा काम जल्दी होगा एवं ग्राहक को कपड़े जल्दी वापस कर सकूंगी। जिससे ग्राहकों की संख्या में वृद्धि होगी एवं अधिक काम मिलेगा। जिससे मेरी आमदनी बढ़ेगी। मेरी आमदनी बढ़ने से मेरी आर्थिक स्थिति सुधरेगी एवं मैं अपने बच्चों की अच्छे से देख-रेख कर सकूंगी।
जरूरतमंद लोगों की मदद अच्छे से कर सकूंगी: मितानिन श्रीमती अनिता यादव
मुख्यमंत्री के हाथों मोबाईल मिलने पर शास्त्री नगर सुपेला भिलाई की मितानिन अनिता यादव ने कहा कि वह विधवा है और अपनी आजीविका के लिए मितानिन के पद पर वार्ड में अपनी सेवा दे रही है। उन्होंने कहा कि मै मितानिन का कार्य करती हूं। मितानिन होने के नाते मेरे मोहल्ले में छोटे-मोटे बीमारियों के लिए दवाईयां देती हूं। गर्भवती माताओं की देख-रेख करती हूं। मुझे मोबाईल मिलने से घर बैठे मैं गर्भवती महिलाओं से संपर्क कर उनकी स्वास्थ्य के बारे में जानकारी हासिल कर सकूंगी एवं उनको दवाई लेने के लिए सुझाव भी दे सकूंगी। मेरे मोहल्ले के लोग मेरे इस मोबाईल से मुझसे संपर्क कर मुझसे अपने स्वास्थ्य के संबंध में सलाह ले सकेंगे। मैं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से भी सतत् संपर्क में रहूंगी। मुझे मोबाईल मिल जाने से मेरी कार्य क्षमता में वृद्धि होगी एवं मेरे आस-पड़ोस में मान बढ़ेगा। मैं अपने मायके में परिवार के लोगों से भी बात-चीत कर सकूंगी। इसी प्रकार रामनगर भिलाई की मीना साहू, सेक्टर-2 भिलाई की विष्णु देवी, पुरैना भिलाई की पुलिस स्वयं सेविका उर्मिला देवी, दुर्ग के तमेर पारा निवासी मंजूबाई कसेर, बजरंग नगर की रश्मि बाई राजपूत, बोरसी वार्ड की झमिता साहू, सरस्वती साहू, स्टेशन पारा की अनुप बाई यादव, मठपारा की त्रिवेणी सिन्हा ने मोबाईल मिलने पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के प्रति आभार जताया है। हितग्राहियों ने मोबाईल को उनके जीवन में एक बड़ा परिवर्तन लाने का माध्यम बताया है।
384 करोड़ 21 लाख की लागत के 104 विकास कार्यों की सौगातें :- मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह दुर्ग जिले के आगमन पर जिलेवासियों को अनेक बड़ी सौगातें दी। वे यहां 384 करोड़ 21 लाख 16 हजार रूपए की लागत के 104 विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। इनमें 68 करोड़ 29 लाख 96 हजार रूपए की लागत के 35 विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण एवं 315 करोड़ 91 लाख 20 हजार की लागत से बनने जा रहे 69 विभिन्न निर्माण कार्यों का भूमिपूजन किया। जिन कार्याें का लोकार्पण किया गया है, इनमें दुर्ग-राजनांदगांव में शिवनाथ नदी पर निर्मित उच्च स्तरीय पुल लागत 25 करोड़, अंजोरा स्थित वेटनरी महाविद्यालय की बाढ़ से सुरक्षा के लिए बनाए गए कार्य लागत 8 करोड़ 70 लाख 79 हजार रूपए, रसमड़ा नल-जल योजना लागत 2 करोड़ 69 लाख 64 हजार रूपए, ग्राम निकुम में निर्मित 13/11 के.व्ही. 5 एम.व्ही. ए उपकेन्द्र लागत 2 करोड़ 44 लाख 45 हजार रूपए एवं 2 करोड़ 20 लाख रूपए की लागत से निर्मित तुमाखुर्द से घसरा मुख्य मार्ग का लोकार्पण किया गया। इसी प्रकार जिन कार्यों का भूमिपूजन किया गया हैै, इनमें जिला मुख्यालय दुर्ग से जुनवानी कोहका-कुरूद मार्ग लागत 49 करोड़ 35 लाख 5 हजार रूपए, 27 करोड़ 38 लाख 90 हजार की लागत से बनने जा रहे दुर्ग-दल्ली-राजहरा रेलमार्ग 868/16-17 में ठगड़ा बांध रेल्वे क्रासिंग पर प्रस्तावित ओव्हरब्रिज एवं रेल्वे अंडरब्रिज निर्माण कार्य, 24 करोड़ 45 लाख 38 हजार रूपए की लागत से बनने जा रहे उतई-खोपली-मचांदुर मार्ग, 16 करोड़ 68 लाख 93 हजार रूपए की लागत से बनने जा रहे कुम्हारी से बेमेतरा मार्ग का डामरीकरण कार्य एवं 14 करोड़ 22 लाख 96 हजार रूपए की लागत से बनने जा रहे दुर्ग विश्वविद्यालय में प्रशासनिक भवन निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया। इसके साथ ही जिले में कराए गए अन्य 35 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं 69 अन्य विकास कार्याें का भूमिपूजन किया गया।
विभिन्न योजनाओं से 89 हजार 282 हितग्राही हुए लाभान्वित :- समारोह के दौरान विभिन्न येाजनाओं के तहत हितग्राहियों को सामग्री, उपकरण व चेक का वितरण किया। वे यहां 32 करोड़ 12 लाख 18 हजार 347 रूपए की विभिन्न योजनाओं से 89 हजार 282 हितग्राहियों को लाभान्वित किया। श्रम विभाग द्वारा 2 हजार 514 हितग्राहियों को मुख्यमंत्री सायकल सहायता योजना से लाभान्वित किया गया। इसी प्रकार 86 हितग्राहियों को भगिनी प्रसूती सहायता योजना, 3 हजार 562 श्रमिकों को औजार योजना, 50 हितग्राहियों को मुख्यमंत्री ई-रिक्शा सहायता योजना एवं 65 श्रमिकों को मुख्यमंत्री सिलाई मशीन योजना से लाभान्वित किया गया। इसी प्रकार समाज कल्याण विभाग के द्वारा 412 हितग्राहियों को ट्रायसायकल, 104 हितग्राहियों को मोटाराईज्ड ट्रायसिकल, 170 हितग्राहियों को व्हील चेयर, 72 लोगों को बैसाखी, 176 हितग्राहियों को श्रवण यंत्र, 29 हितग्राहियों को कृत्रिम यंत्र एवं 22 हितग्राहियों को एम.आर.कीट, जूता, श्वेत छड़ी, ब्लाइंड स्टीक, ब्रेलकीट का वितरण किया गया। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 100-100 आंगनबाड़ी केन्द्रों को वॉटर फिल्टर एवं स्वच्छता कीट प्रदाय किया गया। इसी तरह 1500 आंगनबाड़ी केन्द्रों को दरी, 10 कुपोषित बच्चों को सुपोषण कीट, 22 स्व सहायता समूहों को 7 लाख 15 हजार रूपए का ऋण एवं सक्षम योजना अंतर्ग 3 महिलाओं को 1 लाख 20 हजार रूपए का ऋण प्रदाय किया गया। आदिवासी विकास विभाग द्वारा अश्पृस्यता निवारणार्थ विवाह योजना अंतर्गत 5 हितग्राहियों को 8 लाख 50 हजार रूपए का चेक, उद्यानिकी विभाग द्वारा 10 हिताग्राहियों को ऑयल पॉम योजना के तहत 3 लाख 65 हजार 413 रूपए का चेक वितरित किया गया। जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति द्वारा स्मॉल बिजनेस योजनान्तर्गत 4 हितग्राहियों को कुल 8 लाख रूपए का चेक, देना बैंक द्वारा मुद्रा ऋण योजनान्तर्गत 1 हजार 84 हितग्राहियों को कुल 31 करोड़ 79 लाख 48 हजार 934 रूपए का ऋण प्रदाय किया गया। इसी प्रकार राजस्व विभाग द्वारा 1170 हितग्राहियों को पट्टा वितरण, खाद्य विभाग द्वारा 700 हितग्राहियों को उज्ज्वला योजना के तहत गैस सिलेण्डर एवं चूल्हा, जिला पंचायत द्वारा 5 हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास योजना से लाभान्वित किया गया। क्रेडा विभाग द्वारा 5 हितग्राहियों को सोलर पंप का वितरण किया गया। कृषि विभाग द्वारा 261 किसानों का मृदा स्वास्थ्य कार्ड का वितरण, 155 हितग्राहियों को टेªक्टर-थ्रेसर, ड्रिप स्वीकृति प्रमाण पत्र एवं स्प्रेयर प्रदाय किया गया।

error: Content is protected !!