मुख्यमंत्री ने ई-लाईब्रेरी की सौगात देकर बेटियों से किया अपना वादा निभाया

रायपुर| मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज जिला मुख्यालय दुर्ग स्थित विज्ञान विकास केन्द्र में ई-लाईब्रेरी क्लास रूम का शुभारंभ करके बेटियों से अपना वादा निभाया। उल्लेखनीय है कि विज्ञान विकास केन्द्र में 13 अप्रैल 2017 को स्मार्ट क्लास शुभारंभ के अवसर पर मुख्यमंत्री ने बेटियों से वहां ई-लाईब्रेरी बनाने का वादा किया था। उनका यह वादा आज साकार हो गया। डॉ. रमन सिंह ने बालिकाओं के साथ बैठकर छत्तीसगढ़ी व्यंजन का भी लुत्फ उठाया। इस ई-लाईब्रेरी कक्ष का निर्माण एक करोड़ 22 लाख की लागत से जिला प्रशासन द्वारा खनिज न्यास निधि से पूर्ण कराया गया है। विज्ञान विकास केन्द्र में बेटियों को ई-लाईब्रेरी की सौगात मिलने पर उनमें काफी खुशी देखी गई और उन्होंने डॉ. रमन सिंह को धन्यवाद दिया।
मुख्यमंत्री ने छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि ई-लाईब्रेरी का शुभारंभ हो जाने से यहां रहकर अध्ययन कर रही बेटियों को ज्ञान-अर्जन की नवीन तकनीकों के जरिए विभिन्न विषय-विशेषज्ञों से अध्ययन करने में मदद मिलेगी। विज्ञान विकास केन्द्र में प्रदेश के दूरस्थ अंचलों की बेटियां निवास करते हुए विज्ञान एवं वाणिज्य की शिक्षा लेती है। यहां अध्ययनरत बेटियांे को निःशुल्क स्नातकोत्तर की शिक्षा दी जाती है। बेटियां शिक्षा उपरांत बीएड कर प्रदेश में विज्ञान और वाणिज्य संकाय की शिक्षक बनकर शिक्षा का अलख जगा रही है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने विज्ञान विकास केन्द्र में अध्ययनरत् बेटियों से औपचारिक चर्चा कर, केवल उन्हें शिक्षक व्याख्याता तक ही सीमित नहींे रहने वरन संघ लोकसेवा और राज्य प्रशासनिक सेवाएं की प्रतियोगी परीक्षा में सम्मिलित होकर उच्च प्रशासनिक पदों की भी प्राप्ति करने की समझाईश दी। मुख्यमंत्री ने विज्ञान विकास केेन्द्र में अध्ययन पश्चात् वर्तमान में दूरस्थ अंचलों के विद्यालयों में व्याख्याता पद पर पदस्थ बालिकाओं को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया। इस अवसर पर प्रदेश के राजस्व मंत्री श्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, संसदीय सचिव श्री लाभचंद बाफना, विधायक श्री विद्यारतन भसीन एवं श्री सांवरा राम डाहरे एवं अन्य जनप्रतिनिधि तथा कलेक्टर श्री उमेश कुमार अग्रवाल और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!