खेती के लिए बिना ब्याज के ढाई हजार करोड़  का ऋण वितरित

०० प्रदेश के 8.24 लाख से अधिक किसानों ने लिया ऋण

रायपुर| छत्तीसगढ़ में 8 लाख 24 हजार किसानों को खरीफ मौसम की खेती के लिए बिना ब्याज के दो हजार 548 करोड़ 62 लाख रूपए का अल्पकालीन कृषि ऋण वितरित किया जा चुका है। प्रदेश की एक हजार 333 प्राथमिक कृषि सहकारी साख समितियों से ऋण वितरण का कार्य विगत एक अप्रैल से चल रहा है।  
अपेक्स बैंक के अधिकारियों ने आज यहां बताया कि खरीफ मौसम 2018 में किसानों को लगभग 3 हजार 600 करोड़ रूपए का अल्पकालीन कृषि ऋण बांटने का लक्ष्य रखा गया है। वर्तमान में 8 आठ लाख 24 हजार 723 किसानों ने दो हजार 548 करोड़ 62 लाख रूपए का ऋण खेती के लिए लिया है। अधिकारियों ने बताया कि रायपुर जिले के 43 हजार 401 किसानों को 156 करोड़ 60 लाख रूपए, गरियाबंद जिले के 24 हजार 46  किसानों को 64 करोड़ 09 लाख, बलौदाबाजार जिले के 55 हजार 283 किसानों को 187 करोड़ 08 लाख, महासमुंद जिले के 39 हजार 591 किसानों को 164 करोड़ 56 लाख रूपए, धमतरी जिले के 38 हजार 136 किसानों को 105 करोड़ 36 लाख रूपए, दुर्ग जिले के 71 हजार 841 किसानों को 172 करोड़  42 लाख रूपए, बालोद जिले के 95 हजार 629 किसानों को 229 करोड़ 51 लाख रूपए, बेमेतरा जिले के 90 हजार 800 किसानों को 217 करोड़ 92 लाख रूपए, राजनांदगांव जिले के 84 हजार 788 किसानों को 254 करोड़ 31 लाख रूपए, कबीरधाम जिले के 42 हजार 574 किसानों को 247 करोड़ 18 लाख रूपए के अल्पकालीन कृषि ऋषि बांटे जा चुके हैं।  बस्तर जिले के 13 हजार 71 किसानों को 75 करोड़ 76 लाख रूपए, कोंडागांव जिले के 09 हजार 104 किसानों को 32 करोड़ 41 लाख रूपए, नारायणपुर जिले के एक हजार 146 किसानों को 4 करोड़ 81 लाख रूपए, कांकेर जिले के 22 हजार 518 किसानों को 72 करोड़ 99 लाख रूपए, दंतेवाड़ा के एक हजार 63 किसानों को दो करोड़ 79 लाख रूपए, सुकमा जिले के एक हजार 723 किसानों को 7 करोड़ 60 लाख रूपए तथा बीजापुर जिले के तीन हजार 443 किसानों को 13 करोड़ 63 लाख रूपए का ऋण दिया गया है।  बिलासपुर जिले के 29 हजार 734 किसानों ने खेती-बाड़ी के लिए 93 करोड़ 02 लाख रूपए, मुंगेली जिले के 15 हजार 437 किसानों ने 65 करोड़ 16 लाख रूपए, जांजगीर चांपा जिले के 45 हजार 750 किसानों ने 177 करोड़ 48 लाख रूपए, कोरबा जिले के 6 हजार 851 किसानों ने 29 करोड़ 89 लाख रूपए, सरगुजा जिले के 20 हजार 118 किसानों ने 41 करोड़ रूपए, बलरामपुर जिले के 9 हजार 622 किसानों ने 19 करोड़ रूपए, सूरजपुर जिले के 18 हजार 485 किसानों ने 29 करोड़ 91 लाख रूपए, कोरिया जिले के 10 हजार 99 किसानों ने 15 करोड़ 85 लाख रूपए, रायगढ़ जिले के 24 हजार 179  किसानों ने 59 करोड़ 78 लाख रूपए तथा जशपुर जिले के छह हजार 241 किसानों ने खेती-बाड़ी  के लिए 8 करोड़ 41 लाख रूपए का ऋण लिया है। 

 

 

error: Content is protected !!