बहुजन समाज पार्टी के बिना किसी की नहीं बनेगी सरकार : सिद्धार्थ 

०० विपक्ष के गठबंधन को अपवित्र कहे जाने पर प्रदेश प्रभारी अशोक सिद्धार्थ ने कहा, बीजेपी पहले अपने गिरेबान पर झांक कर देखे

०० कांग्रेस के साथ या अजीत जोगी की पार्टी के साथ गठबंधन का फैसला करेंगी मायावती

रायपुर। रायपुर में बसपा की प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों की बैठक न्यू राजेन्द्र नगर गुरुघासीदास सांस्कृतिक भवन में आयोजित की गयी| बैठक में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर पर तैयारी करने के निर्देश प्रदेश प्रभारी ने दिए, वहीं चुनाव में कांग्रेस सहित अन्य दलों के साथ गठबंधन के सवाल पर प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश वाचपेयी ने कहा कि पार्टी सुप्रीमो बहन मायावती इस पर फैसला लेंगी। बसपा कार्यकर्ता 90  सीटों को लेकर तैयार है। बैठक में प्रदेश प्रभारी अशोक सिद्धार्थ राज्य सभा सांसद, एमएल भारती, भीम राजभर, अजय साहू, विधायक केसव चंद्रा, पूर्व विधायक दाउ राम रत्नाकर , दुजराम बौद्ध,बसपा के पर्व विधायक कामदा जोल्हे, पूर्व विधायक लाल साय खूंटे, पूर्व विधायक रामेश्वर खूंटे, सदानंद मार्कण्डेय, एमपी मधुकर, जिला अध्यक्ष, जोन प्रभारी, विधानसभा प्रभारी, संभावित टिकट के दावेदार भी पहुंचे है।

प्रदेश प्रभारी अशोक सिद्धार्थ ने कहा कि जब कांशीराम ने बहुजन समाज को वोट की ताकत का अहसास कराया। मजबूत नहीं मजबूर सरकार चाहिए। अल्प मत की सरकारें बनी है। आज कांशीराम का युग है। पार्टी के कार्यकर्ता ईमानदारी व निष्ठा से कार्य करेंगे। 10 से 15 विधायक जीत जाए तो मजबूर सरकार बनेगी। 15 साल में विकाश नहीं बेहाल से लोग छत्तीसगढ़ में परेशान हैं। छत्तीसगढ़ बसपा प्रभारी राज्यसभा सांसद अशोक सिद्धार्थ ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सीटों की स्थिति का आंकलन कर पूरी रिपोर्ट पार्टी सुप्रीमो मायावती को देंगे उसके बाद ही किसी गठबंधन पर विचार मायावती ही करेंगी| कांग्रेस के साथ या अजीत जोगी की पार्टी के साथ गठबंधन का फैसला मायावती ही करेंगी अभी गठबंधन पर फैसला नहीं हुआ है, बसपा सभी 90 सीटों पर प्रत्याशी उतारने की तैयारी कर रही है| सिद्धार्थ ने कहा कि बसपा का वोटर कहीं नहीं जाता, वो बसपा को ही वोट देगा, अजीत जोगी की नई पार्टी से हमारे वोटबैंक पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा| कांग्रेस कितना सीट हमें यहां देना चाहती है ये मायने नहीं रखता, बल्कि बगैर बसपा के राह मुश्किल है, कर्नाटक में क्या हुआ सबको पता है| बसपा प्रदेश प्रभारी अशोक सिद्धार्थ ने विपक्ष के गठबंधन को अपवित्र कहे जाने के मीडिया के सवाल पर बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी पहले अपने गिरेबान पर झांक कर देख ले। गठबंधन पर कहा कि राष्ट्रीय नेतृत्व इस पर फैसला लेंगी। जोगी के नई पार्टी बना लेने पर बसपा वोट बैंक पर कोई प्रभाव पड़ने वाला नहीं है।

 

error: Content is protected !!