स्कूल शिक्षा मंत्री कश्यप और लोक निर्माण मंत्री मूणत द्वारा मायाराम सुरजन कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल में नवनर्मित ऑडिटोरियम का शुभारंभ

०० मायाराम सुरजन स्कूल में 20 लाख रूपए से बनेगा लॉन टेनिस मैदान  

रायपुर| स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने आज राजधानी रायपुर के चौबे कॉलोनी स्थित मायाराम सुरजन कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल में नवनर्मित ऑडिटोरियम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत ने की। रायपुर जिले के प्रथम स्मार्ट विद्यालय के रूप में चयनित मायाराम सुरजन कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल में लगभग साढ़े तीन सौ बैठक क्षमता के इस आडिटोरियम का निर्माण लोक निर्माण विभाग द्वारा एक करोड़ 50 लाख रूपए की लागत राशि से किया गया है। इसके भू-तल तथा प्रथम तल का प्लिंथ एरिया 650 वर्ग मीटर में है। आडिटोरियम के भू-तल में हॉल, मंच, बरान्डा सहित ड्रेसिंग रूम तथा ग्रीन रूम और प्रथम तल में बरान्डा सहित बालकनी का निर्माण कार्य कराया गया है। इस अवसर पर श्री कश्यप और श्री मूणत ने विद्यालय के प्रतिभावान विद्यार्थियों तथा खिलाड़ियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया।    
स्कूल शिक्षा मंत्री कश्यप ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य में शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व क्रांति आई है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में सरकार द्वारा राज्य के सभी शासकीय स्कूलों में संसाधनों की बढ़ोतरी के लिए विशेष जोर दिया जा रहा है। इसके तहत स्कूलों में खेल मैदान, ई-लाइब्रेरी सहित ई-क्लासेस आदि की सुविधाएं भी मुहैया करायी जा रही है।  यहां स्कूलों में विद्यार्थियों को पात्रता अनुसार मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम के अलावा निःशुल्क पाठ्य पुस्तक तथा गणवेश आदि के वितरण से भी लाभान्वित किया जा रहा है। श्री कश्यप ने बताया कि राज्य में पहले प्राथमिक शालाओं में बच्चों का ड्रापआउट दर 18 प्रतिशत था, जो अब घटकर लगभग शून्य प्रतिशत हो गया है। इसी तरह पहले हाई स्कूलों में बालिकाओं का दर्ज प्रतिशत 60 प्रतिशत के आसपास ही था, जो अब बढ़कर वर्तमान में 97 प्रतिशत तक पहुंच गया है। उन्होंने यह भी बताया कि राज्य में विद्यार्थियों के समन्वित विकास के लिए पढ़ाई के साथ-साथ खेल गतिविधियों को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। यह वजह है कि प्रदेश में वर्तमान में खेल जोनों की संख्या सात से बढ़कर 12 हो गई है। श्री कश्यप ने स्कूलों में बच्चों को सही दिशा प्रदान करने के लिए शिक्षकों के साथ-साथ समाज के प्रबुद्धजनों की भागीदारी हेतु विशेष रूप से आगाह किया। इस अवसर पर लोक निर्माण मंत्री मूणत ने कहा कि प्रदेश में स्कूली बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए सरकार द्वारा हर संभव पहल की जा रही है। उन्होंने बताया कि राज्य के दूर-दराज आदिवासी अंचल तक शिक्षण सुविधाओं के बेहतर इंतजाम किए गए हैं।  इससे अब वहां के बच्चों को भी अपनी प्रतिभा को निखारने का भरपूर अवसर मिल रहा है।  श्री मूणत ने इस मौके पर मायाराम सुरजन स्कूल को आदर्श स्कूल के रूप में पहचान देने के लिए उसे गोद लेने की घोषणा भी की। उन्होंने यह भी बताया कि इस विद्यालय को अच्छी पहचान देने के लिए कई विकास कार्य कराए जा रहे हैं। इनमें विद्यालय में लाल टेनिस मैदान के लिए 20 लाख रूपए की राशि स्वीकृत होने की जानकारी भी दी। इस अवसर पर स्थानीय पार्षद और शाला जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष  श्री सनत बैस, पार्षद श्रीमती मिनल चौबे, पार्षद श्री पंचू भारती, पार्षद श्री आशीष अग्रवाल सहित शिक्षक, पालकगण और स्कूली बच्चे बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!