सरकार युवाओ को रोजगार उपलब्ध कराती मोबाइल तो वो खुद खरीद लेते : अमरजीत चावला

०० सरकार की मोबाइल बांटने की योजना पर कांग्रेस नेता अमरजीत चावला ने कसा तंज

०० मोबाइल देने हितग्राहियों से लिए जा रहे , आधार कार्ड, राशन कार्ड, बैंक पास बुक और स्मार्ट कार्ड, इससे सरकार की नीयत पर हो रहा है शक  

रायपुर/महासमुंद| चाइना मेड हल्की क्वालिटी का मोबाइल बांटने की योजना पर तंज कसते हुवे पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष अमरजीत चावला ने कहा कि उन्हें मोबाइल बाटने पर कोई आपत्ति नही है  वरन सरकार की बदनीयत पर आपत्ति है बेहतर होता सरकार युवाओ को रोजगार उपलब्ध कराती मोबाइल तो वो खुद खरीद लेते, ऊपर से हल्के स्तर का मोबाइल देने के लिए उनसे, आधार कार्ड, राशन कार्ड, बैंक पास बुक और स्मार्ट कार्ड जैसे दस्तावेज मंगवाए जा रहे इससे सरकार की नीयत पर शक हो रहा है|

पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष चावला ने कहा मोबाइल या सिम कार्ड लेने के लिए  माननीय उच्चतम न्यायालय ने आधार कार्ड की अनिवार्यता भी खत्म कर दी है पासपोर्ट फोटो और निवास प्रमाणपत्र बस जरुरी होता है,फिर क्यों भाजपा सरकार बाकि और दस्तावेज़ मांग रही और जब फ्री में बाटना है तो पास बुक की क्या जरूरत है ,कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि जिस तरह फसल बीमा के लिए इफको टोकियो कंपनी के साथ मिलकर गरीब किसानों की फसल बीमा की राशि अनावरी रिपोर्ट की आड़ में गफलत कर करोड़ो का भ्र्ष्टाचार किया गया घटिया साईकल खरीदी कर करोड़ो का भ्र्ष्टाचार किया गया उसी तरह निम्न स्तर का मोबाइल खरीदी कर करोड़ो का भ्र्ष्टाचार किया जा रहा है| सरकार चुनावी खर्च की व्यवस्था करने हेतु शराब बिक्री और इन सब चीजों की खरीदी की आड़ में करोड़ो ,अरबो रुपये की व्यवस्था करने में लगी है और सरकारी खर्च में प्रदेश की जनता के पैसे का दुरुपयोग कर चुनावी वर्ष में बोनस त्योहार,मोबाइल त्योहार मनाने में लगी है| अमरजीत चावला ने मांग की अगर सरकार की नीयत साफ है तो अनावारी रिपोर्ट की आड़ में फसल बीमा की राशि देने में गड़बड़ी बन्द हो ,किसानों को उनका हक मिले तथा युवाओ को रोजगार दिलाने की दिशा में सरकार ईमानदारी और गंभीरता से प्रयाश करे तथा मोबाइल देना ही है तो उस कंपनी का मोबाइल दे जिस कंपनी  के मोबाइल का इस्तेमाल मुख्यमंत्री और मंत्री करते है तथा इतने सारे दस्तावेजो की अनिवार्यता खत्म हो|

 

 

error: Content is protected !!