केन्द्रीय केबिनेट सचिव ने ग्राम स्वराज अभियान के दूसरे चरण की वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए की  समीक्षा

०० आकांक्षी जिलों में योजनाओं की प्रगति की जानकारी मुख्य सचिवों से ली, छत्तीसगढ़ में किए गए कार्यों की हुई प्रशंसा

रायपुर| केन्द्रीय केबिनेट सचिव प्रदीप कुमार सिन्हा ने आज देश की राजधानी दिल्ली से वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए राष्ट्रव्यापी ग्राम स्वराज अभियान के दौरान जनसामान्य से जुड़ी प्रमुख योजनाओं की समीक्षा की । इन योजनओं में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, जनधन योजना, मिशन इंद्रधनुष, सौभाग्य (सहज बिजली हर घर बिजली योजना), उजाला (एल.ई.डी.बल्ब वितरण), प्रधानमंत्री जीवन-ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, किसानों के लिए चलायी जा रही कल्याणकारी योजनाएं शामिल हैं। केन्द्रीय केबिनेट सचिव ने समीक्षा के दौरान इन योजनाओं की प्रगति में छत्तीसगढ़ में किए गए कार्यों की प्रशंसा की। वीडियो कॉन्फें्रसिंग में अधिकारियों ने बताया कि ग्राम सुराज अभियान के प्रथम चरण में राज्य में प्रधानमंत्री जन-धन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना तथा प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत शत-प्रतिशत उपलब्धि हासिल कर ली गई है। 
अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रव्यापी ग्राम स्वराज अभियान का प्रथम चरण में 14 अप्रैल से 5 मई 2018 तक चलाया गया। ग्राम स्वराज अभियान का दूसरे चरण एक जून से आगामी 15 अगस्त 2018 तक चलाया जाएगा। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के 10 जिलों को आकांक्षी जिलों में शामिल किया गया है। इनमें बस्तर, बीजापुर, दंतेवाड़ा, कोण्डागांव, कोरबा, महासमुंद, नारायणपुर, राजनंादगांव, सुकमा और कांकेर जिला शामिल हैं। वीडियो कांफ्रेसिंग के दौरान छत्तीसगढ़ राज्य के ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री आर.पी. मंडल ने आकांक्षी जिलों में योजनाओं की प्रगति की विस्तृत जानकारी दी। वीडियो कांफ्रेसिंग में केन्द्र शासन के ग्रामीण विकास, स्वास्थ्य, कृषि, वित्त सहित अन्य विभागों के वरिष्ठ अधिकारी, आन्ध्रप्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, ओडिशा, बिहार, उत्तरप्रदेश और झारखण्ड राज्य के मुख्य सचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारी तथा छत्तीसगढ़ के कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री सुनील कुजूर सहित खाद्य, ऊर्जा, महिला एवं बाल विकास सहित अन्य विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। 

 

error: Content is protected !!