भूपेश बघेल को नक्सली बनकर फोन करने वाले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

०० भूपेश को आंध्रप्रदेश के विजयवाड़ा की वेटनरी कॉलोनी से किया गया था कॉल

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल को नक्सली बनकर फोन करने वाले को पुलिस गिरफ्तार कर लिया है, फर्जी नक्सली की गिरफ्तारी आंध्रप्रदेश से हुई है आरोपी ऐसे फोन कर कई लोगों को परेशान कर चुका है। आरोपी को लेने के लिए रायपुर पुलिस आंध्रप्रदेश रवाना हो चुकी है।

स्पेशल डीजी नक्सल ऑपरेशन डीएम अवस्थी ने बताया कि आरोपी सी वीरू राजू विजयवाड़ा के वेटनरी कॉलोनी का रहने वाला है। आरोपी ने स्वीकार किया है कि उसने भूपेश बघेल को नक्सली लीडर गणपति बनकर फोन किया था। बघेल को संदिग्ध फोन 17 जुलाई मंगलवार को आया था। उस समय वे अपने रायपुर स्थित सरकारी निवास में थे। 18 जुलाई को दूसरे दिन सुबह वे अपने घर भिलाई चले गए। वहां जाने के बाद उन्होंने दुर्ग पुलिस में शिकायत की थी। दुर्ग पुलिस ने शिकायत को जांच के लिए रायपुर पुलिस को रिफर कर दिया था जिसके बाद इस मामले की रायपुर पुलिस ने पड़ताल की। कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल को आरोपी ने की-पैड वाले मोबाइल से फोन किया था। आईएमईआई नंबर के आधार पर पुलिस ने इस फोन का पता लगा लिया था। यह मैनुअल फोन है, यानी टच स्क्रीन भी नहीं है। फोन के लोकेशन को भी पुलिस ने ट्रेस कर लिया था। भूपेश को कॉल आंध्रप्रदेश के विजयवाड़ा की वेटनरी कॉलोनी से किया गया था। भूपेश को विजयवाड़ा की जिस कालोनी से फोन आया, वह छत्तीसगढ़ की सरहद पर कोंटा के करीब है। कोंटा से उसकी दूरी 300 किलोमीटर है। कोंटा धुर नक्सली इलाका है। उसके आगे भद्राचलम है। इसे भी नक्सल प्रभावित माना जाता है।

 

error: Content is protected !!