झीरम का सच छुपाने वाले गलत दरवाजा खटखटा रहे है : भाजपा

रायपुर। झीरम हमले को लेकर युवक कांग्रेस द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के नेतृत्व में सीएम निवास का घेराव हास्यस्पद ही नही अपितु कांग्रेस अध्यक्ष की उनके नेताओं की शहादत पर भी राजनीति करने की छोटी मानसिकता को उजागर करती है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने सीएम निवास के घेराव पर कांग्रेस और कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल पर पलटवार करते कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश में जब झीरम जैसी दुःखद घटना घटित हुई उस वक्त केंद्र में सोनिया गांधी की कांग्रेस सरकार थी, मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे और झीरम घटना के बाद सोनिया गांधी, राहुल गांधी सहित स्वयं तात्कालिक प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह रायपुर आये थे। कांग्रेस के सरकार में ही एन.आई.ए. की जांच की घोषणा की गई और जांच भी हुई इन तमाम घटनाक्रम के बाद पिछले दिनों छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रभारी पी.एल. पुनिया ने झीरम हमले के लिए बाकायदा एक बयान जारी कर उनके ही अभिन्न मित्र  कांग्रेस पार्टी से अलग हो कर जनता कांग्रेस बनाने वाले कांग्रेस पार्टी के पूर्व मुख्यमंत्री रहे अजीत प्रमोद कुमार जोगी पर आरोप लगाया और आज कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल झीरम हमले के लिए गलत दरवाजा खटखटा रहे है। कांग्रेसियों को सीएम निवास  का दरवाजा खटखटाने के बजाय झीरम का सच और प्रमाण न्यायिक जांच आयोग के समक्ष प्रस्तुत कर सच्चाई सामने ला दोषियों को सजा दिलवानी चाहिए।

भाजपा प्रवक्ता ने कांग्रेस पर सीधे निशाना साधते कहा कि यदि कांग्रेस को झीरम का सच मालूम है तो वे क्यों अपने ही नेताओं की शहादत का मजाक बना रहे है क्या कांग्रेस में अपने दिवंगत नेताओं के लिए भावना खत्म हो चुकी है? उन्होंने कांग्रेसियों पर शहादत पर राजनीतिक रोटी सेकने का आरोप लगाते कहा कि झीरम घटना से आज तक कांग्रेसी हर मोर्चे पर भाजपा सरकार पर ठीकरा फोड़ने का काम किया है। चूंकि चुनाव नजदीक है और कांग्रेस के पास डॉ. रमन सिंह सरकार के खिलाफ कोई मुद्दा नही रह गया है इसी लिए कांग्रेस अध्यक्ष अपने नेताओं की शहादत पर राजनीति करने से बाज नही आ रहे है। छत्तीसगढ़ की जनता सब समझती है वो कांग्रेस को फिर सत्ता से दूर रख कर सबक सिखायेगी।

 

error: Content is protected !!