शहर को स्वच्छ, सुंदर व सुव्यवस्थित बनायें : मंत्री केदार कश्यप

०० आदिम जाति विकास मंत्री केदार कश्यप ने जिले में चल रहे निर्माणाधीन कार्यों की समीक्षा की 

रायपुर/नारायणपुर| प्रदेश के आदिम जाति विकास एवं स्कूली शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने आज नारायणपुर जिले केे पड़ोसी जिला कोण्डागांव के न्यू सर्किट हाउस में जिले में चल रही निर्माण कार्यों की समीक्षा की। मंत्री श्री कश्यप ने पुल-पुलिया, भवन निर्माण के साथ ही अन्य स्वीकृत कार्यों को गुणवत्तापूर्ण पूर्ण ढंग से जल्द से जल्द आगामी अगस्त माह के अंत तक पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने अधिकारियों से भुगतान के संबंध में भी जानकारी ली। इस अवसर पर कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा, लोक निर्माण के कार्यपालन अभियंता श्री एफ टोप्पो, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के एस.सी. साहू, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री के.एस. मसराम, नगर पालिका सीएमओ श्री महेन्द्र प्रताप सिंह सहित नारायणपुर विकासखण्ड और ओरछा विकासखण्ड सीईओ सर्व श्री अमित भािटया, श्री अशीष डे और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना अभियंता, जलसंसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता के अलावा संबंधित निर्माण कार्य में लगे ठेकेदार भी उपस्थित थे।

मंत्री केदार कश्यप ने नगर पालिका अधिकारी को अपना विजन बढ़ाकर शहर को स्वच्छ और सुंदर बनाने की पहल करने की निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि शहर की साफ-सफाई, नालियों और पेयजल व्यवस्था जल्द से जल्द से दुरूस्थ करें। इसके साथ ही पुराने बस स्टैण्ड में कांक्रीटीकरण किये जाने कहा। उन्होंने कहा कि शहर के भीतर बसाहट की जगह अब शहर से कुछ दूर पर सरकारी कार्यालय, स्कूल, काॅलेज एवं आवासीय परिसर के लिए जमीन चिन्हांकित कर भवनों का निर्माण किया जाये, ताकि शहर की सुव्यवस्थित बसाहट हो सके। उन्होंने शहर के सौंदर्यीकरण पर विशेष जोर दिया। आदिम जाति विकास मंत्री ने जल संसाधन विभाग के अधिकारी से देवगांव जलाशय के संदर्भ में किये जा रहे कार्यों के बारे में पूछा। मंत्री ने नलजल योजना के संबंध में भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि शुद्ध पानी अंतिम छोर के व्यक्ति तक अवश्य पहुंचे। इस बात का विशेष ध्यान रखें। अधिकारियों द्वारा मंत्री को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। अधिकारियों ने मंत्री को बताया कि अंजरेल पहाड़ पर बनायी जाने वाली ढाई किलोमीटर सड़क पर वन विभाग की ओर से दिक्कत पैदा की जा रही है। कलेक्टर श्री वर्मा ने संबंधित अधिकारी को इसका सर्वे कराकर जानकारी उपलब्ध कराने कहा। श्री कश्यप ने सभी अधिकारियों से कहा कि कौन-कौन से काम विभाग या शासन स्तर पर लंबित है। उसकी अलग-अलग सूची बनाकर देंवे, ताकि उस स्तर पर निराकरण की पहल की जा सके। कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने मंत्री को बताया कि इसी साल से कृषि महाविद्यालय की क्लास शुरू हो जायेंगी। फिलहाल ये काॅलेज कृषि विज्ञान केन्द्र केरलापाल में लगेगा। काॅलेज के लिए देवगांव में भूमि का चयन कर लिया गया है। इसके साथ ही वहां डाईट और प्रशिक्षण एक ही स्थान में लगाने के लिए भी भूमि चिन्हांकित की गयी है। मंत्री ने नेलवाड़ स्थित विद्युत उपकेन्द्र की भी जानकारी ली। अधिकारियों ने बताया कि सितम्बर माह तक काम खत्म हो जायेगा।

 

error: Content is protected !!