मुख्यमंत्री को खुश करने चाटुकार अधिकरियों ने शिक्षको को जारी किया फूल बरसाने का लिखित आदेश

०० भूपेश, अकबर ने जारी की आदेश की प्रति, कहा सीएम पर फूल बरसाने वाले नहीं मिल रहे आमजन  

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की चाटुकारिता में अंम्बिकापुर के सरकारी अफसरो ने ऐसे कारनामे को अंजाम दिया है, जो प्रदेश के इतिहास में पहले नहीं हुआ। अम्बिकापुर के जिला शिक्षा अधिकारी ने बकायदा सरकारी आदेश जारी किया कि विकास यात्रा में जब मुख्यमंत्री आयेंगे, शिक्षाकर्मीयों की एक टीम उन पर फूल बरसाएगी। दुसरी टीम फूल बरसाने वाले गुब्बारे उड़ाएगी और तीसरी टीम धुएं वाले गुब्बारे उड़ाएगी जो आसमान में  फुटेंगे। प्रदेश कॉंग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल एवं पूर्व मंत्री मो. अकबर ने यह पत्र मीडिया के सामने पेश करते हुये खुलासा किया कि अंबिकापुर के अफसरों ने चाटुकारिता की सारी हदें तोड़ते हुये मुख्यमंत्री प्रवास से एक दिन पहले  इसकी रिहर्सल भी करवा डाली ।  भूपेश बघेल एवं मोहम्मद अकबर ने शिक्षको का अपमान करने वाले ऐसे अफसरों को तुरंत बर्खास्त करने की मांग की है।  उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यों के लिये मुख्यमंत्री को भाजपा कार्यकर्ता और आम लोग नहीं मिल पा रहे हैं, इसलिए ऐसा करना पड़ रहा है। 

जिला शिक्षाधिकारी का पत्र जारी करते हुये भूपेश बघेल एवं मोहम्मद अकबर ने बताया कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का रोड शो 10 जून को अंबिकापुर में था।  इससे दो दिन पूर्व जिला शिक्षाधिकारी ने सरकारी आदेश जारी किया कि विकासखण्ड लखनपुर के शिक्षक अंबिकापुर में रिलायंस पेट्रोल पंप के पास और होण्डा शो रूम के पास डॉ. रमन के काफिले पर फूलों की वर्षा करेंगे और गुब्बारे (बैलून) उड़ाएगें यह आदेश 7 जुन को जारी किया गया। इसी तरह विकास खण्डा लूण्ड्रा के शिक्षको की डयूटी अंम्बिकापुर के अग्रसेन चौक, जयस्तम्भ चौक और कदम्बी चौक में पुष्प वर्षा, बैलून छोड़ने और बैलून बम छोड़ने के लिए लगाई गयी थी इस कार्य के लिए 8 जुन को पूर्वाअभ्यास भी कराया गया था। ऐसा आदेश करने वाले अधिकारी को तत्काल बरखास्त किया जाना चाहिए। भूपेश एवं अकबर ने कहा की अगामी चुनाव में 65 सीट जीतने का लक्ष्य रखने वाले  मुख्यमंत्री को रोड़ शो के लिए अपने उपर फूल बरसाने और बैलून छोड़ने के लिए भी भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता और आम जन नही मिल पा रहे है। तो उन्हें समझ लेना चाहिए प्रदेश में लोकप्रिय सरकार के दावें कितने खोखलें हैं। इन्होनें सवाल उठाया की क्या डॉ. रमन अधिकारियों और कर्मचारियों के भरोसे ही चुनाव लड़ेगें ? क्या छत्तीसगढ़ के 27 जिलों में वही लोग कलेक्टर बनायें जाएगें जो मिशन 65 को पुरा करवाने में अपना पुरा योगदान देंगे ?

मिशन 65 मे शामिल अफसरो की सूची है  कॉंग्रेस के पास :- प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल एवं मो. अकबर ने दावा किया की मिशन 65 में शमिल कुछ जिला कलेक्टरो की सूची कॉंग्रेस पार्टी के पास है, जो वह उचित समय में भारत निर्वाचन आयोग को सौंपेगी। उन्होंने कहा की प्रजातंत्रिक व्यवस्था में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव करवाने के लिए अधिकारी और कर्मचारी ही जिम्मेदार होते है, इसलिए सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों से यह अपेक्षा कि जाती है, कि वे अगामी विधानसभा चुनाव में अपने कर्तव्यों का ईमानदारी से निष्पक्षता पूर्वक निर्वहन करेंगे।

 

error: Content is protected !!