एक वृक्ष ने खोली बिजली विभाग की पोल : अमरजीत चावला

०० रिपेरिंग और लाइन सुधारने के नाम पर 7 घंटे तक जिला मुख्यालय में रही बिजली बन्द

रायपुर/महासमुंद| एक वृक्ष गिरने की वजह से रिपेरिंग और लाइन सुधारने के नाम पर 7 घंटे तक जिला मुख्यालय में  बिजली बन्द होने की वजह से बिजली विभाग की तैयारियों की पोल खुल गई| जारी बयान में कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष अमरजीत चावला ने कहा कि प्रदेश का दुर्भाग्य है कि ऊर्जा विभाग का दायित्व प्रदेश के मुख्यमंत्री के पास है उसके बावजूद मात्र एक वृक्ष गिरने की वजह से जिला मुख्यालय में 7 घंटे तक रिपेयरिंग के नाम से बिजली बंद कर दी जाती है और अधिकारी अपना फ़ोन बन्द करके बैठ जाते है सीएसईबी आफिस में कोई फोन उठाने वाला नही रहता| 

कांग्रेस पूर्व जिलाध्यक्ष अमरजीत चावला ने कहा कई समय से बिजली विभाग में स्टाफ की कमी है और ऊपर से जब से निजीकरण किया गया है तब से एवरेज बिल, अधिक बिल, अनियमित बिल,अघोषित कटौती जैसी समस्याओं की बाढ़ आ गयी है बिल में ऊर्जा कर, उप कर, सुरक्षा निधि  जैसे कई कालम है जिसकी आड़ में अनाप शनाप बिल भेजा जा रहा जिसके चलते आम उपभोक्ता बिजली विभाग के चक्कर काटने और बिल सुधरवाने में ही अपना दिन व्यतीत करने ने व्यस्त हो गया है, कोई सुनवाई करने वाला नही है| क्षेत्र के तथाकथित श्रेय पुरुष और जनप्रतिनिधि झूठे संकल्पों में व्यस्त है, जिनकी छुट्टी इस साल के अंत मे जनता करने वाली है वो जनप्रतिनिधि मार्च तक काम करवाने का संकल्प करने का झूठा दावा कर रहे है | कांग्रेस नेता ने कहा इस घटना से विकास यात्रा निकालने वालो की पोल खुल गयी है 

अमरजीत ने कहा रिपेयरिंग के नाम से घंटो बिजली बंद करने के पीछे करोड़ो का भ्र्ष्टाचार छुपा है बिजली बंद रहने से लाखों यूनिट बिजली बच जाती है उसका कोई हिसाब किताब नही होता यही मुख्य वजह है कि थोड़ा सा पानी गिरा या हवा चलती है तो लाइट बन्द कर दी जाती है और भ्र्ष्टाचार का खेल चालू हो जाता है जिसकी हिस्सेदारी में मंत्री से लेकर संतरी तक सब शामिल रहते है| चावला ने कहा जिस तरह प्रदेश का मुखिया डॉक्टर है और प्रदेश की स्वास्थ व्यवस्था पूरी तरह से लचर हो गई है उसी तरह ऊर्जा विभाग और खनिज विभाग मुख्यमंत्री के अधीन है तो यहा पर, “सैय्या भये कोतवाल तो डर काहे का” कहावत लागू है, इसलिए पूरी भर्राशाही चालू है हम उसकी निंदा करते है और जनता से आव्हान करते है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में अपनी होने वाली सारी परेशानियों को याद रखे और सत्ता परिवर्तन करे|

 

error: Content is protected !!