‘हाइड्रोसीडिंग’ से घास लगाने की तकनीक का मंत्री मूणत ने किया अवलोकन

०० हाइड्रोसीडिंग मशीन से प्रतिदिन लगभग 40 हजार वर्गफीट जमीन में लगाया जा सकता है घास

रायपुर| लोक निर्माण और आवास एवं पर्यावरण मंत्री राजेश मूणत की उपस्थिति में सिविल लाइन स्थित उनके निवास कार्यालय में अत्याधुनिक मशीन ‘हाइड्रो सीडिंग’ से घास लगाने की तकनीक का प्रस्तुतीकरण दिया गया। इस दौरान प्रयोग के बतौर श्री मूणत के निवास कार्यालय के समीप डॉ. अम्बेडकर मंगल भवन के परिसर में हाइड्रोसीडिंग मशीन से घास लगाया गया।
देहरादून के एक निजी संस्थान द्वारा इस तकनीक से घास लगाने के अपने प्रस्तुतीकरण में बताया कि हाइड्रोसीडिंग मशीन द्वारा प्रतिदिन लगभग 40 हजार वर्गफीट जमीन में घास लगाया जा सकता है। इससे मैदानी क्षेत्र के अलावा पहाड़ी क्षेत्र आदि दुर्गम स्थलों पर भी आसानी से घास लगाने का कार्य किया जा सकता है। हाइड्रोसीडिंग मशीन के द्वारा सड़क किनारे खाली पड़ी जगहों, सड़क के डिवाइडरों तथा रिटेनिंगवालों और गार्डन आदि स्थानों पर भी सुविधापूर्वक घास लगाने का कार्य हो सकता है। इससे हर तरह की जगह में बहुत कम समय में बीज और आवश्यक उर्वरा को एक साथ मिलाकर घास लगाने का कार्य आसान हो जाता है, जो क्षेत्र में हरियाली बढ़ाने और उसके सौंदर्यीकरण में काफी मददगार है। इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग के विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी श्री अनिल राय, प्रमुख अभियंता श्री डी.के. प्रधान तथा नगर पालिक निगम रायपुर के आयुक्त श्री रजत बंसल और संबंधित विभागीय अधिकारी बड़ी संख्या में मौजूद थे।

 

 

error: Content is protected !!