कुकुर्दी केरा सरपंच के खिलाफ पंचों का अविश्वास प्रस्ताव पूर्ण बहुमत से पारित

०० फ़िल्मी अंदाज में सरपंच व गुंडातत्वों ने किया पंच का अपहरण

०० कोटा के जंगल में पंच को छोड़कर सरपंच भी हुआ गायब

०० अपहृत पंच को नागेन्द्र राय व रवि श्रीवास ने कोटा पुलिस की मदद से छुड़ाया   

बिलासपुर| ग्राम पंचायत कुकुर्दीकेरा सरपंच के खिलाफ ग्रामीण व सभी पंचो द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लाया गया, इस चुनाव में पीठासीन अधिकारी मस्तुरी नायब तहसीलदार के समक्ष चुनाव किया गया जिसमे सरपंच के खिलाफ सभी 13 पंचो ने वोट कर अविश्वास प्रस्ताव पूर्ण बहुमत से पारित हुआ| इस अविश्वास प्रस्ताव के पूर्व गुंडातत्वों ने पंचायत के एक पंच का अपहरण कर कोटा के जंगलो में छोड़ दिया जिसे नागेन्द्र राय व रवि श्रीवास के द्वारा कोटा पुलिस की मदद से छुड़ाया गया|    

मस्तुरी तहसील के अंतर्गत ग्राम पंचायत कुकुर्दीकेरा के सरपंच दशरथ बांधे के विरूद्ध पंचों द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव पूर्ण बहुमत से पारित हो गया है। इस चुनाव में पीठासीन अधिकारी मस्तुरी के नायब तहसीलदार जायसवाल थे। यहां कुल तेरह पंच और सरपंच  मिलाकर चौदह वोट में सरपंच के विरूद्ध अविश्वास  मत लाया गया जिसमे पूरा का पूरा तेरह वोट सरपंच के विरुद्ध पड़े जिसकी आशंका सरपंच को पहले से ही था इसीलिये वह इस बैठक में अनुपस्थित रहा। गौरतलब हो कि सरपंच दशरथ बांधे के खिलाफ ग्रामीण व सभी पंच थे| सरपंच को अविश्वास प्रस्ताव से बचाने के लिये क्षेत्र के गुंडातत्वों द्वारा भर्सक प्रयास किया गया था फिर भी सरपंच को बचा पाने में नाकामयाब रहे| इस पुरे घटनाक्रम के दौरान एक रोमांचक घटना भी घटी, कुकुर्दी के एक पंच को  सरपंच व उनके समर्थक गुंडातत्वों द्वारा अपहरण कर कोटा के जंगल में रखे  हुए थे| इसकी जानकारी कांग्रेस नेता नागेन्द्र राय व रविश्रीवास को होने पर उन्होंने कोटा पुलिस की मदद से अपहृत युवक बबलू पटेल को छुडाकर गांव तक समय में लाकर वोटिंग कराने में सफल रहे।

ऐसे किया पंच का अपहरण :- ग्रामीणों ने बताया कि बबलू पटेल कुकुर्दी पंचायत का एक सदस्य है जिसे गांव का ही एक साथी ने घर से बुलाकर ले गया और फिर उसे सरपंच के लोगों के हवाले कर खुद भी उसके साथ गायब था। अपहरणकर्ताओं ने बबलू पटेल को कोटा क्षेत्र की जंगल में ले गये थे ताकि वह अपना मतदान न कर सके। आज सुबह वह किसी तरह कतिपय  उठाईगिरों के चंगुल से बच कर भाग कर पेंड़ में चढ़कर छूपा हुआ था। कांग्रेस नेता नागेन्द्र राय व रविश्रीवास ने मोबाईल पर लोकेशन पता करते हुए कोटा पुलिस की सहायता से उसे सुपूर्द में लिया गया और फिर मतदान में भागीदार बनाया गया।

 

error: Content is protected !!