चखना व चखला सेंटर चलाने वालो के माध्यम से भाजपा कर रही गन्दी राजनीति : शैलेश पाण्डेय

०० डॉ. सीवी रमन विश्वविद्यालय के खिलाफ विधानसभा में उठाया गया था मामला, जिसकी जांच में नहीं मिली थी अनियमितता

०० शैलेश पाण्डेय की स्वच्छ छबि को धूमिल करने भाजपा कार्यकर्ताओ द्वारा किया जा रहा कुत्सित प्रयास

बिलासपुर| कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता व डॉ सीवी रमन विश्वविद्यालय के पूर्व कुलसचिव शैलेश पाण्डेय ने कहा कि आबकारी मंत्री द्वारा अपने कार्यकर्ताओ को बिलासपुर में लगभग सभी शराब दुकानों के चखना सेंटर देकर रखा है जिनका संचालन भाजपा के कार्यकर्त्ता कर रहे है साथ ही लोगो को शराब पिलाने का स्तरहीन कार्य भी भाजपा कार्यकर्ताओ द्वारा किया जा रहा है| भाजपा के इन्ही कार्यकर्ताओ द्वारा शिक्षा के मंदिर को अपवित्र करने का प्रयास पिछले एक साल से अवनरत किया जा रहा है|

डॉ सीवी रमन विश्वविद्यालय के पूर्व कुलसचिव व कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता शैलेश पाण्डेय पिछले छ: माह पूर्व ही जनता की सेवा के उद्देश्य को लेकर कांग्रेस में शामिल हुए है, कांग्रेस में शामिल होने व उसके पूर्व भी शैलेश पाण्डेय द्वारा भाजपा के स्थानीय विधायक व मंत्री के जनविरोधी कार्यो के खिलाफ जमकर विरोध जताते रहे है जिसके चलते मंत्री के कार्यकर्ताओ द्वारा उनकी स्वच्छ छबि को धूमिल करने को लेकर एक राजनितिक षड्यंत्र रचकर उन्हें बदनाम करने का कुत्सित प्रयास किया जा रहा है| शैलेश पाण्डेय को बिलासपुर की जनता उनके सरल, सहज, मृदुभाषी होने के साथ साथ जनता के हितो को लेकर हमेशा सजग रहने वाले लोकप्रिय नेता के रूप में प्रेम करती है, समय-समय पर शैलेश पाण्डेय द्वारा जनहित को लेकर भाजपा सरकार का जमकर विरोध भी करते रहे है जिसके चलते जनता के बीच स्थानीय विधायक का असली चेहरा सामने आ गया है जिससे बौखलाकर मंत्री के समर्थको व कार्यकर्ताओ के द्वारा कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता शैलेश पाण्डेय की छबि धूमिल करने राजनैतिक षड्यंत्र रचा जा रहा है| गौरतलब है कि इससे पूर्व भी डॉ सीवी रमन विश्वविद्यालय के खिलाफ कई शिकायते की गयी थी, इसको लेकर भाजपा के विधायको द्वारा विधानसभा में मामला भी उठाया था जिसकी जांच भाजपा शासन द्वारा कराया गया जिसमे डॉ. सीवी रमन विश्वविद्यालय के खिलाफ किसी भी तरह अनियमितता नहीं पायी गयी थी साथ ही इस मामले को लेकर उच्च शिक्षामंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय द्वारा कहा गया था कि डॉ. सीवी रमन विश्वविद्यालय के खिलाफ मिली शिकायत की सूक्ष्म जांच किया गया जिसमे किसी भी तरह की कोई अनियमितता नहीं पायी गयी है| 

error: Content is protected !!