राज्य के सभी नगरीय निकायों में बहुत जल्द शुरू होगा शहरी आजीविका मिशन: अमर अग्रवाल

०० आजीविका मिशन के क्रियान्वयन में छत्तीसगढ़ अव्वल

०० नगरीय प्रशासन मंत्री ने 67 बैंक प्रबंधकों और अधिकारियों का किया सम्मान

०० बैंकर्स सह मिशन प्रबंधकों की कार्यशाला आयोजित

रायपुर| नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री अमर अग्रवाल ने कहा है कि राज्य के बचे 91 नगरीय निकायों में भी राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन योजना (एन.यू.एल.एम.) बहुत जल्द शुरू किए जाएंगे। फिलहाल राज्य के कुल 168 निकायों में से 77 निकायांे में यह योजना सफलता पूर्वक संचालित हो रही है। योजना के अंतर्गत शहरी इलाकों की लगभग 2 लाख 55 हजार महिलाएं 22 हजार महिला स्व-सहायता समूह के रूप में संगठित होकर आत्मनिर्भरता की ओर तेजी से बढ़ रही हैं। श्री अग्रवाल ने आज राजधानी रायपुर में दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के अंतर्गत आयोजित राज्य स्तरीय कार्यशाला सह सम्मान समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। नगरीय प्रशासन मंत्री ने समारोह में एन.यू.एल.एम. योजना में बेहतरीन कार्यों के लिए 67 बैंक अधिकारियों, मिशन प्रबंधकों  और वरिष्ठ अधिकारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। उल्लेखनीय है कि एन.यू.एल.एम. योजना के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2017-18 में छत्तीसगढ़ राज्य को देश में प्रथम स्थान हासिल किया है। श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर सूडा द्वारा प्रकाशित दो पुस्तिकाओं का विमोचन भी किया। नगरीय प्रशासन विभाग के सचिव डॉ. रोहित यादव, संचालक श्री निरंजन दास, आर.बी.आई. के उप महाप्रबंधक श्री नीलाभ झा, राज्य स्तरीय बैंकर्स सलाहकार समिति के संयोजक श्री ब्रम्हसिंह और सूडा के अतिरिक्त सी.ई.ओ. श्री अभिनव अग्रवाल भी इस अवसर पर उपस्थित थे।
मुख्य अतिथि की आसंदी से श्री अग्रवाल ने कहा कि शहरी गरीबों को समूह के रूप में संगठित करके और आर्थिक मदद देकर आत्मनिर्भर बनाना शहरी आजीविका मिशन का प्रमुख उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि शहरों में रोड, नाली, बिजली आदि सुविधाएं उपलब्ध कराने के साथ-साथ लोगों की माली हालत में सुधार लाने के लिए राज्य सरकार की अनेक योजनाएं हैं। एन.यू.एल.एम. योजना इनमें सबसे प्रमुख है। इन योजनाओं के क्रियान्वयन से महिलाएं आत्मनिर्भर होने के साथ-साथ उनमें गजब का आत्मविश्वास पैदा हुआ है। उन्होंने योजना के क्रियान्वयन में वित्तीय वर्ष 2017-18 में पूरे देश में प्रथम आने पर बैंक प्रबंधकों सहित मिशन के अधिकारियों-कर्मचारियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्हांेने कहा कि इन स्वसहायता समूहों के लिए सबसे अच्छी बात यह है कि ये लोन उठाने के बाद इसे नियमित तौर से जमा भी करा रही हैं। श्री अग्रवाल ने कहा कि सामान्य तौर से गरीब महिलाएं इन योजनाओं के हितग्राही होते हैं। इन महिलाओं को और सहायता और सहयोग प्रदान करने की जरूरत हैं। महिला समृद्धि बाजार अथवा नगरीय निकाय की अन्य योजनाओं के तहत निर्मित दुकानें इन्हें आवंटित करने के लिए राज्य सरकार जल्द एक नीति तैयार करेगी। मंत्री ने कहा कि फिलहाल दी जाने वाली लोन सीमा को और बढ़ाए जाने की जरूरत है ताकि वे और अच्छे तरीके से अपने कारोबार को बढ़ा सकें। उन्होंने खुशी प्रकट किया कि महिलाएं मिशन क्लीन सिटी में भी जुड़कर स्वच्छता अभियान में अपना योगदान दे रही हैं। लगभग 9 हजार महिलाएं इस अभियान में जुटी हैं। उन्होंने यह भी बताया कि इनमें से अनेक महिलाओं को ई-रिक्शा भी दिया गया है, जो कि सफलतापूर्वक चलाकर अपना घर-परिवार को सहयोग प्रदान कर रही हैं। नगरीय प्रशासन मंत्री ने कार्यशाला सह सम्मान समारोह में बेहतरीन काम-काज के लिए लगभग 67 अधिकारियों-कर्मचारियों को सम्मानित किया। इनमें राज्य के विभिन्न बैंकों के प्रबंधक, लीड बैंक मैनेजर, आजीविका मिशन के अधिकारी शामिल हैं। उन्होंने व्यक्तिगत ऋण के अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रथम पुरस्कार -एक्सिस बैंक और दूसरा तथा तीसरा पुरस्कार क्रमशः यूको बैंक और कैनरा बैंक को मिला है। समूह ऋण श्रेणी में प्रथम पुरस्कार श्री एच.डी.एफ.सी. बैंक, दूसरा पुरस्कार एक्सिस बैंक और तीसरा पुरस्कार छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक, बैंक लिंकेज के अंतर्गत बैंक ऑफ इण्डिया को प्रथम,देना बैंक को दूसरा और छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक को तीसरा पुरस्कार प्रदान किया गया है। जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक वर्ग के अंतर्गत व्यक्तिगत ऋण के अंतर्गत शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ति के लिए प्रथम पुरस्कार जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक बेमेतरा, दूसरा मंुगेली और तीसरा कोरबा को मिला है। समूह ऋण के अंतर्गत प्रथम एल.डी.एम. कोण्डागांव, दूसरा बालोद और तीसरा पुरस्कार गरियाबंद को दिया गया है। बैंक लिंकेज के अंतर्गत शतप्रतिशत लक्ष्य प्राप्ति के लिए प्रथम पुरस्कार एल.डी.एम. गरियाबंद, दूसरा पुरस्कार जशपुरनगर एल.डी.एम. और तीसरा पुरस्कार एलडीएम सूरजपुर को प्राप्त हुआ है|  नगरीय निकायों के अंतर्गत स्वरोजगार कार्यक्रमों के अंतर्गत शतप्रतिशत लक्ष्य प्राप्ति के लिए नगर निगम बिलासपुर, नगर निगम कोरबा, नगर निगम जगदलपुर, नगरपालिका परिषद जांजगीर नैला, नगरपालिका जशपुर नगर और नगरपालिका परिषद कोण्डागांव को दिया गया है। उत्कृष्ट मिशन प्रबंधक के रूप में बिलासपुर की सुश्री प्रज्ञा पोरवाल, कोरबा निगम के श्री मनीष भोई, रायपुर निगम की सुश्री रीमा शुक्ला, राजनांदगांव निगम की सुषमा मिश्रा आदि को पुरस्कृत किया गया है। कार्यशाला को नगरीय प्रशासन विभाग के सचिव डॉ. रोहित यादव, आर.बी.आई. के उप महाप्रबंधक श्री नीलाभ झा, संचालक श्री निरंजन दास और राज्य स्तरीय बैंक सलाहकार समिति के संयोजक श्री ब्रम्हसिंह ने भी सम्बोधित किया। 
 

 

error: Content is protected !!