राहुल गांधी के दौरे के बाद छत्तीसगढ़ कांग्रेस में उत्साह : पी.एल. पुनिया

०० गैर दलों से गठबंधन आवश्यकता के अनुसार, सीबीआई की कार्यवाही भाजपा का हथकंडा, भाजपा आदतन किसान विरोधी

रायपुर। कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया आज रायपुर पहुंचने के बाद माना हवाई अड्डे पर पत्रकारों से चर्चा करते हुये कहा है कि छत्तीसगढ़ के कांग्रेस कार्यकर्ताओं में राहुल गांधी जी के कार्यक्रम के बाद नये उत्साह का संचार हुआ है। महासमुंद, बागबाहरा, आरंग, रायपुर पश्चिम और फिर सरगुजा संभाग में जो सभी 14 विधानसभा क्षेत्र के विधानसभा स्तरीय संकल्प शिविरों के कार्यक्रम होने जा रहे है और निरंतर संगठन को मजबूत करने के लिये कार्यक्रम हो रहे है। चुनाव में ज्यादा समय नहीं बचा है। सभी लोगों को एक साथ जुटाकर हम चुनाव लड़ेंगे।

छत्तीसगढ़ में अन्य दलों से गठबंधन संबंधी सवाल पर उन्होने कहा कि जब गठबंधन की कोई बात होगी तो आपको बताया जायेगा। अभी किसी तरह का कोई प्रस्ताव नहीं है, चर्चा नहीं है। राहुल गांधी ने स्पष्ट रूप से कहा है कि भाजपा को हटाने के लिये जहां-जहां भी आवश्यकता होगी हम जरूर गठबंधन करके भाजपा को हटायेंगे। इनकी सरकार रहना देशहित में नहीं है। गरीबों के हित में नहीं है। इनको जाना होगा। जोगी से गठबंधन की संभावना को पूरी तरह से खारिज करते हुये छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया ने कहा है कि आप यह सवाल मुझसे पूछ रहे हैं जबकि राहुल गांधी स्वयं कह चुके है कि वो अवसरवाद का सहारा लेकर बाहर गये है। उनसे वार्ता करने का हमारा कोई विचार नहीं है। सरगुजा में अमितशाह के भी कार्यक्रम के सवाल पर छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया ने कहा कि हमारे पहले से कार्यक्रम है। हो सकता है उनका भी कार्यक्रम रहा हो। वो अपनी पार्टी के लिये काम करने जा रहे है, हम अपनी पार्टी को मजबूत करने जा रहे है, हरेक को अधिकार है। इसमें कोई आपत्ति की बात नहीं है। सीडी कांड में सीबीआई की कार्यवाही के संबंध में उन्होने कहा कि सीबीआई की कार्यवाही तो भाजपा का हथकंडा है। राजनैतिक रूप से कांग्रेस से नहीं लड़ पा रहे है तो तोते को बाहर निकाला है, लेकिन ये किसी भी तरह से कामयाब नहीं होगे। सीडी बनाने वालों से कोई पूछताछ नहीं है, सीडी बांटने वालों से कोई पूछताछ नहीं है, सिर्फ हवा में लहराने वाले से पूछताछ करेंगे तो इससे आप अंदाज लगा सकते है कि क्या राजनीति हो रही है। किस तरह से सीबीआई का राजनैतिक दुरूपयोग हो रहा है। छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया ने भाजपा को चेतावनी देते हुये कहा कि गलतफहमी में भाजपा न रहे। ईंट से ईंट बजा देंगे। कांग्रेस पार्टी के हमारे कार्यकर्ता किसी भी मायने में भाजपा सरकार से डरने वाले या दबने वाले नहीं है, कमजोर नहीं है।  किसान आंदोलन के संबंध में उन्होंने कहा कि राधा मोहन सिंह जी कृषि मंत्री है भारत सरकार के उन्हें कृषि की बात करनी चाहिए। किसानों की बात करनी चाहिए लेकिन किसानों के विरोध में बात करते हैं, यह बड़े दुर्भाग्य की बात है और आवाज कितने लोग उठा रहे है, उठा रहे हैं वो महत्वपूर्ण नही है आवाज कितनी जायज है ये महत्वपूर्ण है। अगर आवाज एक व्यक्ति भी उठाता है तो सरकार को संवेदनशील होना चाहिए। उनकी बात को सुनना चाहिए। क्या यह सही नहीं है उद्योगपतियों का लगभग ढाई लाख करोड़ रुपया कर्जा यह सरकार माफ कर चुकी है। बैंकों का ऋण माफ कर चुकी है और जब किसानों को ऋण माफ करने के बात आती है तो कहते हैं बाजार खराब हो जाएगा, किसानों की आदत खराब हो जाएगा यह इनकी धारणा है। एमएसपी के बारे में स्पष्ट करना चाहिए। यूपीए-1 में 450 रुपया धान का रेट बढ़ा। यूपीए-2 के दौरान 440 रुपया रेट बढ़ा और अगर अटल बिहारी बाजपेयी का कार्यकाल देखे तो  एवरेज उनका साठ रुपए बढ़ा था और इनके दौरान 3 साल में 150 रुपया किसानों के साथ मजाक है अन्नदाताओं को जगह-जगह भीख मांगनी पड़े, गुहार करने पड़े। किसानों को बधाई देना चाहूंगा उन्होंने हिम्मत करके केवल काम बंद करने का निर्णय लिया है, कांग्रेस पार्टी उनके साथ है उनका समर्थन करती है। उन्होंने हरियर छत्तीसगढ़ पर भी भाजपा सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुये कहा कि छत्तीसगढ़ में, हरिहर छत्तीसगढ़ के नाम से बहुत बड़ा घोटाला है और जहां जितने पेड़ लगे बताते हैं वहां उतनी जमीन नहीं है। जहाँ पहाड़ों है, पौधे पेड़ लग नही सकता, वहाँ पौधा लगाना बताते है। बहुत बड़ा घोटाला है और हमारी सरकार आएगी तब इस घोटाले की जांच करेगी और दोषियों पर सख्त कार्रवाई करेगी।

 

error: Content is protected !!