चार लोगो की हत्या का आरोपी गिरफ्तार, बदला लेने की थी हत्या

०० पुलिस ने 24 घंटे के अन्दर किया हत्या का खुलासा

०० हत्या के आरोपी से मृतिका का लेनदेन को लेकर हुआ था विवाद

रायपुर/महासमुंद। पिथौरा थाना इलाके में 2 मासूमों समेत 4 लोगों की निर्मम हत्या के मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने के साथ ही 48 घंटे में सनसनीखेज मर्डर का खुलासा कर दिया। बताया जा रहा है कि आरोपी बदले की भावना से चोरी करने घर में घुसा था। परिवार वाले जाग गए और उसे पहचान लिया, पहचान छुपाने की नीयत से आरोपी के सिर पर खून सवार हो गया और वो एक-एक करके 4 लोगों की लाशें बिछा दिया।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार किशनपुर उप स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत एएनएम योगमाया साहू, पति चैतन्य और उनके बच्चे तन्मय व कुणाल की हत्या हो गयी थी। योगमाया परिवार के साथ हॉस्पिटल में बने सरकारी क्वार्टर में ही रहते थे, इस घटना की जांच में पुलिस पूरी एनर्जी के साथ लगी थी। पुलिस ने मृतक के गायब मोबाइल को सर्विलांस पर लगाया था। अचानक उसका फोन दूसरे सिमकार्ड के साथ चालू हो गया। पुलिस लोकेशन ट्रैस कर आरोपी तक पहुंच गई। आरोपी के पास से मृतका के गहने, नकदी, सीसीटीवी की एलईडी और खून से सने कपड़े बरामद किए। पूछताछ में आरोपी ने चौंकाने वाली बात बताई। आरोपी धर्मेंद्र बरिहा भी किशनपुर का ही है। वो मृतक के घर के पास में रहता है। कुछ दिन पहले मृतक चैतन्य ने घर में धर्मेंद्र से कार शेड और प्लंबरिंग का काम कराया था, पैसे के लेन-देन को लेकर मृतक ने आरोपी को सबके सामने जलील कर दिया था। आरोपी इसी गुस्से में 30 मई की रात योगमाया के घर में घुसा। वो चोरी कर मृतक और उसकी फैमिली से बदला लेना चाहता था। इसी दौरान चैतन्य जाग गया और उससे आरोपी की हाथापाई हो गई आरोपी ने गला रेतकर चैतन्य को मार दिया। शोर सुनकर योगमाया भी जाग गई उसने पति को लहूलुहान हालत में देखा तो चीखने लगी उसकी चीख पड़ोसियों ने सुनी पर वो समझे कि किसी महिला की डिलीवरी हो रही है। इधर आरोपी ने योगमाया को भी मार दिया और उसके बाद पहचान उजागर होने के डर से बच्चों को भी मार दिया। वारदात के बाद उसने गहने और नकदी चुराए और वहां से निकल गया। जाते-जाते आरोपी स्वास्थ्य केंद्र के चैनल गेट पर बाहर से ताला लगाकर भाग गया।

 

error: Content is protected !!