‘हमारी बहनें भी अब स्मार्ट फोन पर मुख्यमंत्री से हैलो-हैलो’…कह कर बात कर सकेंगी : डॉ. रमन सिंह

०० विकास यात्रा में 12.50 लाख श्रमवीरों को 250 करोड़ की योजनाओं का लाभ: मुख्यमंत्री 

०० अकेले भाटापारा क्षेत्र में चार साल में  हुए छह सौ करोड़ के विकास कार्य: डॉ. रमन सिंह

रायपुर| मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि विकास यात्रा में छत्तीसगढ़ के 12 लाख 50 हजार श्रमवीरों को लगभग 250 करोड़ रूपए की योजनाओं का लाभ दिलाया जा रहा है। पत्थर तोड़ने वाले, ईंट-गारा ढोने वाले तरह-तरह की  मेहनत-मजदूरी के काम करने वाले इन श्रमवीरों को निःशुल्क साइकिल, सिलाई मशीन, टिफिन बॉक्स सहित अन्य कई कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। मुख्यमंत्री आज दोपहर विकास यात्रा के दौरान बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के तहसील मुख्यालय सिमगा में एक विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। महिलाओं ने भी भारी संख्या में आमसभा में हिस्सा लिया।  डॉ. रमन सिंह ने जनता को सम्बोधित करते हुए कहा – संचार क्रांति योजना (स्काई) के तहत अगले चार महीने में प्रदेश के 50 लाख परिवारों को निःशुल्क स्मार्ट फोन दिए जाएंगे। इन परिवारों की हमारी बहनें भी स्मार्ट फोन पर मुख्यमंत्री से ‘हैलो-हैलो’ कह कर बात कर सकेंगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कई प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया। 


डॉ. रमन सिंह ने जनता से कहा – कुछ ऐसी योजनाएं भी होती है, जो जीवन को बदल देती है और कुछ योजनाओं का प्रभाव पीढ़ियों तक रहता है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गरीबों के लिए शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना भी एक ऐसी योजना है, जिसमें किडनी, हृदय रोग, कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए पांच लाख रूपए तक सहायता मिलेगी। छत्तीसगढ़ के लगभग 37 लाख परिवारों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री नेे कहा – कल्याणकारी राज्य में बच्चे के जन्म के साथ उसकी पूरी जीवन यात्रा के हर पड़ाव पर उसे सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ मिलता है। छत्तीसगढ़ सरकार ने नोनी सुरक्षा योजना की शुरूआत की है, जिसमें गरीब परिवारों में बेटी के जन्म पर सरकार हर साल पांच हजार रूपए उसके नाम पर बैंक खाते में जमा करती है और जब बेटी 18 वर्ष की हो जाएगी तो उसे एक लाख रूपए मिलेंगे। मुख्यमंत्री ने 154 करोड़ रूपए के 31 निर्माण कार्याें का लोकार्पण और भूमिपूजन भी किया। आमसभा में मुख्यमंत्री ने विकास की सकारात्मक सोच पर बल देते हुए कहा – विकास क्या होता है, इसे छत्तीसगढ़ में हमारी सरकार ने करके दिखाया है।  सब देख रहे हैं कि विगत लगभग 15 साल की यात्रा में छत्तीसगढ़ कहां से कहां पहुंच गया। सहकारी बैंकों से किसानों को खेती के लिए 14-15 प्रतिशत वार्षिक ब्याज पर ़ऋण मिलता था। हमारी सरकार किसानों पर ब्याज के इस बोझ को कम करते हुए शून्य प्रतिशत कर दिया। अब उन्हें ब्याज मुक्त ऋण मिल रहा है।    उन्होंने कहा राज्य में विकास की गति को आगे बढ़ाने की शुरूआत हो चुकी है। छत्तीसगढ़ में अब गरीबों को भूख से मुक्ति मिल गयी है। उनके लिए निःशुल्क इलाज की व्यवस्था की गई है। स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 50 हजार रूपए तक वार्षिक इलाज के लिए स्मार्ट कार्ड जारी किए गए हैं। राज्य सरकार की योजनाओं का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा – गरीबों को एक रूपए किलो चावल और निःशुल्क नमक मिल रहा है। किसानों को धान का बोनस दिया जा रहा है। लैपटाप पर एक क्लिक दबाते ही बोनस की पूरी राशि पलभर में उनके बैंक खातों में पहुंच रही है। गरीब परिवारों को अब बेटियों की शादी के लिए चिंतित होने की जरूरत नहीं। सरकार ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत बेटियों के विवाह का भी इंतजाम किया है। डॉ. रमन सिंह ने कहा- राज्य सरकार ने   सिमगा सहित प्रदेश के सभी  क्षेत्रों में अच्छी सड़कों का जाल बिछाने का काम किया है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य) के तहत अगले चार महीने में प्रदेश के शत-प्रतिशत घरों में बिजली पहुंच जाएगी। जिन गांवों और मजरों-पारों में  बिजली नहीं पहुंची है सरकार वहां भी इस दौरान बिजली पहुंचाएंगी। मुख्यमंत्री ने कहा – प्रदेश के सभी विधानसभा क्षेत्रों में जनता को योजनाओं और विकास कार्याें का लाभ मिल रहा है। अकेले भाटापारा विधानसभा क्षेत्र में विगत लगभग चार साल में छह सौ करोड़ रूपए के काम हुए है। इस क्षेत्र में विकास के नये कीर्तिमान स्थापित हुए है। मुख्यमंत्री ने इसके लिए क्षेत्र के विधायक श्री शिवरतन शर्मा की सक्रियता की जमकर तारीफ की और कहा कि छत्तीसगढ़ विधानसभा में उन्हें सर्वश्रेष्ठ विधायक का सम्मान मिला है। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल की कसौटी पर श्री शर्मा खरे उतरे हैं।  डॉ. रमन  सिंह ने कहा- किसी एक विधानसभा क्षेत्र में सिर्फ चार साल में छह सौ करोड़ रूपए के कार्याें का होना सचमुच मायने रखता है, क्योंकि जब छत्तीसगढ़ राज्य नहीं बना था और यह तत्कालीन मध्यप्रदेश का हिस्सा था, उस समय पूरे छत्तीसगढ़ के लिए एक साथ इतनी बड़ी राशि नहीं आती थी। मुख्यमंत्री ने कहा – शिवनाथ नदी भाटापारा विधानसभा क्षेत्र की जीवन रेखा है। विधायक श्री शिवरतन शर्मा की सक्रियता से पूरे भाटापारा सिमगा इलाके में लगभग 40 हजार एकड़ खेतों के लिए सिंचाई की व्यवस्था की जा चुकी है। मुख्यमंत्री ने कहा – सिमगा क्षेत्र के किसान शिवनाथ नदी के किनारे सिंचाई पम्पों से पानी ले सकेंगे। राज्य सरकार ने पम्प विद्युतीकरण के लिए एक लाख रूपए की अनुदान की सुविधा फिर  शुरू कर दी है। अगर 10 किसान मिलकर सामूहिक रूप से इसका लाभ लेना चाहें तो उन्हें ट्रांसफार्मर की भी सुविधा दी जाएगी। डॉ. सिंह ने आज लगभग 53 वर्ष पुरानी वर्ष 1965-66 की सिमगा उदवहन सिंचाई योजना के जीर्णाेद्धार कार्य के लिए आमसभा में हुए भूमिपूजन को अत्यंत महत्वपूर्ण बताया और कहा कि लगभग तीन करोड़ रूपए की लागत से यह कार्य जल्द पूरा किया जाएगा। आम सभा में विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, लोकसभा सांसद श्री रमेश बैस, विधायक श्री शिवरतन शर्मा और रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि और विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित थे। 

 

error: Content is protected !!