मुख्यमंत्री ने किया भटगांव को तहसील का दर्जा देने और स्टेडियम निर्माण की घोषणा

०० आम सभा में 17 हजार से ज्यादा हितग्राहियों को सामग्री और अनुदान इनमें से लगभग साढे़ छह हजार परिवारों को आबादी पट्टे

रायपुर| मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज बलौदाबाजार-भाटापारा जिले की उप तहसील भटगांव को तहसील का दर्जा देने की घोषणा की। उन्होंने प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान भटगांव की विशाल आमसभा में यह ऐलान किया। डॉ. सिंह ने भटगांव में एक अच्छा स्टेडियम बनवाने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि जिस मैदान में यह आमसभा हो रही है, उसे खिलाड़ियों के लिए लगभग ढाई करोड़ से तीन करोड़ रूपए की लागत से एक सुंदर आउट डोर स्टेडियम के रूप में विकसित किया जाएगा, ताकि विकास यात्रा के आज के इस आयोजन को यादगार बनाया जा सके। 

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर लगभग 104 करोड़ के निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उनके हाथों इनमें से 54 करोड़ 17 लाख रूपए के पूर्ण हो चुके विभिन्न निर्माण कार्यों लोकार्पण और 49 करोड़ 69 लाख के नये कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास हुआ। मुख्यमंत्री ने भटगांव की आमसभा में किसानों के लिए आज उनके द्वारा घोषित तीन बड़े फैसलों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि एकल सिंचाई पम्प वाले किसानेां को वर्तमान में दी जा रही 7500 यूनिट सालाना निःशुल्क बिजली के साथ ज्यादा खपत पर फ्लैट रेट में भुगतान की सुविधा मिलेगी। एक से ज्यादा सिंचाई पम्पों पर भी फ्लैट रेट की सुविधा मिलेगी। उन्होंने किसानों को यह भी बताया कि राज्य शासन द्वारा सिंचाई पम्पों को बिजली का कनेक्शन देने के लिए एक लाख रूपए के अनुदान की सुविधा आज से फिर शुरू की जा रही है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने आज विकास यात्रा के प्रथम पड़ाव पंडरिया (जिला-कबीरधाम) की आमसभा में किसानों के हित में इन फैसलों का ऐलान किया था। डॉ. सिंह ने भटगांव की आम सभा में जनता को सम्बोधित करते हुए कहा कि बलौदाबाजार-भाटापारा जिले की मिट्टी पवित्र चंदन से कम नही है, यहां गिरौदपुरी में सतनाम पंथ के प्रवर्तक गुरू घासीदास की जन्मस्थली और कर्मस्थली है। जिले के सोनाखान सहित शहीद वीर नारायण की भूमि है। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरी शंकर अग्रवाल, खाद्य मंत्री और जिले के प्रभारी श्री पुन्नूलाल मोहले, लोक निर्माण, आवास एवं पर्यावरण मंत्री श्री राजेश मूणत, विधायक और छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डॉ. सनम जांगड़े, विधायक श्री शिवरतन शर्मा, लोकसभा सांसद श्रीमती कमलादेवी पाटले और छत्तीसगढ़ राज्य वनौषधि एवं पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह सहित अनेक जनप्रतिनिधि कार्यक्रम में उपस्थित थे। डॉ. रमन सिंह ने आमसभा में 17 हजार से अधिक हितग्राहियों को शासन की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के अंतर्गत 36 करोड़ रूपए की विभिन्न सामग्रियों और सहायता राशि का वितरण किया। उन्होंने इनमें से 6 हजार 358 परिवारों को आबादी पट्टे दिए और प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 500 महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन भी बांटे। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के 2 हजार 770 परिवारों को आवास स्वीकृति पत्रों का वितरण किया। डॉ. सिंह ने श्रम विभाग की विभिन्न योजनाओं में साढे 4 हजार श्रमिकों को एक करोड़ 77 लाख रूपए की लागत से सिलाई मशीन, सायकल, औजार किट के साथ ही प्रसूति सहायता, कन्या विवाह, छात्रवृत्ति योजनाओं में अनुदान राशि के चेक भी वितरित किए। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह जिन निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से तीन करोड़ 27 लाख रूपए की लागत से जोरा से बलौदी मार्ग का उन्नयन, 53 लाख रूपए की लागत से बम्हनपुरी एवं पण्डरीपाली शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला भवन के सुदृढ़ीकरण कार्य, 20 लाख रूपए की लागत से भटगांव में निर्मित परियोजना कार्यालय भवन, 51 लाख रूपए से सरसींवा में मिनी स्टेडियम, 50 लाख की लागत से सरसींवा में पुलिस थाना भवन और 36 लाख रूपए की लागत से निर्मित 22 स्मार्ट आंगनबाड़ी भवनों का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का भूमिपूजन-शिलान्यास किया,  उनमें सलौनीकला -गिरवानी मार्ग में 47 लाख रूपए की लागत से अमराईया नाला पर बनने वाला पुल, जमगहन, कुम्हारी एवं पंडरीपाली में 2 करोड 21 लाख रूपए की लागत से शासकीय हाईस्कूल भवन निर्माण, सेन्दूरस में 58 लाख रूपए की लागत की नलजल योजना, कोट एवं बालपुर में 86 लाख रूपए की लागत की आवर्धन योजना ,पेण्ड्रावन से चारभाठा, घोघरा से दुल्लापुर  और चचरेल से खुरदरहा तक 4 करोड़ 50 लाख रूपए की लागत से सड़क निर्माण कार्य का शिलान्यास एवं भूमिपूजन किया।मुख्यमंत्री ने नगर पंचायत भटगांव द्वारा विभिन्न वार्डो में एक करोड़ 70 लाख रूपए की लागत से सी.सी.रोड और नाली निर्माण, नगर पंचायत बिलाईगढ़ में 2 करोड़ 64 लाख रूपए की लागत से सीसी रोड निर्माण, 20 करोड़ रूपए की लागत से जल आवर्धन योजना, पुरगांव में 10 करोड़ 37 लाख रूपए की लागत से सूक्ष्म सिंचाई योजना, 6 करोड 24 लाख रूपए की लागत से ठाकुरदिया जलाशय के नहरों का जीर्णोंद्धार एवं लाइनिंग कार्यों का भूमिपूजन किया। 
मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना और नोनी सुरक्षा योजना के तीन सौ हितग्राहियों को प्रमाण पत्र, तेन्दूपत्ता श्रमिकों के 52 बच्चों को 4.48 लाख रूपए की विभिन्न छात्रवृत्तियां, 149 फड़मंुंशियों को सायकल, 300 किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड, चाराबीज मिनीकिट और स्प्रेयर, 95 यवाओं को कौशल प्रमाण पत्र, प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य) के तहत दो सौ परिवारों को विद्युत कनेक्शन प्रमाण पत्र, 63 मछुआ समितियों को जाल, 42 निःशक्तजनों को विभिन्न पुनर्वास उपकरण का वितरण किया।   

 

 

error: Content is protected !!